--Advertisement--

एमडी बोले-आढ़तियों को देंगे ढुलाई का काम

गेहूं के सीजन में ढुलाई के टेंडरों का ट्रांसपोर्टरों द्वारा बायकाट किए जाने के बाद प्रशासन लगातार बैठकें करने...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
गेहूं के सीजन में ढुलाई के टेंडरों का ट्रांसपोर्टरों द्वारा बायकाट किए जाने के बाद प्रशासन लगातार बैठकें करने लगा है। सिविल व पुलिस प्रशासन के अधिकारी ट्रक ऑपरेटरों को फोन पर ढुलाई के टेंडर डालने के लिए जहां बार-बार आग्रह कर रहे हैं, वहीं ट्रक ऑपरेटर किसी तरह का ढीला रुख अपनाने से गुरेज कर रहे हैं।

शनिवार को ढुलाई के काम को लेकर मार्कफेड के एमडी अर्शदीप सिंह थिंद ने जिला खुराक एवं सिविल सप्लाई के अधिकारियों और एसएसपी से मुलाकात की। एमडी थिंद ने कहा कि अगर ढुलाई के टेंडर कोई नहीं डालता तो प्रशासन ढुलाई का काम आढ़तियों या शैलर मालिकों को भी सौंप सकता है। उन्होंने कहा कि पिछले समय के दौरान ढुलाई के रेट में बड़े अंतर के कारण पंजाब को काफी ज्यादा आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा। इस बार सरकार ने लिफ्टिंग व ट्रांसपोर्ट के शेड्यूल रेट फिक्स किए हैं, वे केंद्रीय एजेंसियों द्वारा की जाती अदायगी के अनुसार ही फिक्स किए हैं। अगर कहीं भी किसी ने काम में रुकावट डालने की कोशिश की तो उसके खिलाफ कार्रवाई से गुरेज नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार खरीद प्रबंधों पर नजर रख रही है और किसानों के हक में कभी भी कोई भी फैसला लिया जा सकता है।

एसएसपी सतिंदर पाल सिंह और डीएफएससी विभाग के अधिकारियों से मीटिंग के दौरान जानकारी देते मार्कफेड के एमडी अर्शदीप सिंह थिंद।

सख्त अफसर की छवि वाले हैं अर्शदीप थिंद

एमडी अर्शदीप सिंह थिंद की छवि सख्त अफसर की रही है। वह नवांशहर में एसडीएम भी रहे हैं, तब उन्होंने अतिक्रमण पर मुहिम चलाई थी और उन्होंने नेताओं की भी एक नहीं सुनी और कमेटी बाजार के तंग रास्ते से भी जेसीबी निकलवा दी थी।