• Home
  • Punjab News
  • Nawanshahr News
  • एक्ट में संशोधन के विरोध में बंद का समर्थन करेगी पीएसयू और सीपीआई
--Advertisement--

एक्ट में संशोधन के विरोध में बंद का समर्थन करेगी पीएसयू और सीपीआई

भास्कर संवाददाता | नवांशहर/बलाचौर पंजाब स्टूडेंट्स यूनियन (पीएसयू) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) दो...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
भास्कर संवाददाता | नवांशहर/बलाचौर

पंजाब स्टूडेंट्स यूनियन (पीएसयू) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) दो अप्रैल को एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में 2 अप्रैल को भारत बंद को समर्थन करेगी। पीएसयू के सदस्य बंद के दौरान मोदी सरकार का पुतला फूंकेंगे। नवांशहर में पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान पीएसयू के दोआबा जोन के प्रधान बलजीत सिंह धर्मकोट और जिला प्रधान बिक्रमजीत सिंह ने कहा कि एससी/एसटी एक्ट में संशोधन से मोदी सरकार का दलित विरोधी एजेंडा बेनकाब हो गया है। सुप्रीम कोर्ट के जरिए एससी/एसटी एक्ट में संशोधन करना निंदनीय है। इस मौके पर जिला प्रैस सचिव नीरज कुमार, नेता सुरिंदर सिंह, सुखबीर सिंह आदि मौजूद थे।

वहीं, बलाचौर में एक मीटिंग के दौरान भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता कामरेड परमिंदर मेनका ने कहा कि एससी/एसटी एक्ट संबंधी सुप्रीम कोर्ट के जारी आदेश के खिलाफ दो अप्रैल को किए जा रहे भारत बंद को समर्थन देंगे। कामरेड मेनका ने कहा कि भारत बंद का आह्वान दलित व अन्य पार्टियों ने दिया है लेकिन भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी दलितों व कमजोर वर्गों पर अत्याचार के खिलाफ लगातार लड़ती आई है। पार्टी 2 अप्रैल को बलाचौर बंद में पूर्ण सहयोग करेगी। इस दौरान कामरेड पार्षद लाल बहादुर गांधी, कामरेड हरमेश बिल्ला, कमलजीत मढ़ियानी, विजय मौहरां, चमन लाल, मनोहर लाल, राम जी, बलविंदर लोहटां, धर्मपाल सयाना, डा. जोगिंदर, सोडी राम, गुरमेल, दिलबाग, परमजीत गोगी आदि मौजूद थे।

बलाचौर में मीटिंग के दौरान जानकारी देते सीपीआई नेता।

भारत बंद में शामिल होंगे पेंडू मजदूर

बलाचौर | पेंडू मजदूर यूनियन के तहसील नेता अशोक जनागल ने कहा कि सरकार सुप्रीम कोर्ट के जरिए एससी/एसटी एक्ट में बदलाव की कोशिश कर रही है। उन्होंने लोगों को अपील की कि 2 अप्रैल को दुकानें बंद करके इस फैसले का विरोध करना चाहिए। इस मौके पर बूटा राम, मोहन लाल, हेमराज, मंगा राम, रेशम कौर, मिंधो, सुरिंदर कौर, गुरमीत कौर, जसवीर सिंह, दीप कुमार, गोल्डी, प्रदीप कुमार, परमजीत कुमार, चरणजीत कुमार आदि मौजूद थे।