• Home
  • Punjab News
  • Nawanshahr News
  • बैठक से पहले 8000 टीचर्स पर दर्ज मामले वापस लिए जाएं : दौड़का
--Advertisement--

बैठक से पहले 8000 टीचर्स पर दर्ज मामले वापस लिए जाएं : दौड़का

विभिन्न अध्यापक संगठनों की ओर से 25 मार्च की लुधियाना चेतावनी रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए अध्यापक नेता कुलदीप...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:45 AM IST
विभिन्न अध्यापक संगठनों की ओर से 25 मार्च की लुधियाना चेतावनी रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए अध्यापक नेता कुलदीप सिंह दौड़का ने आभार व्यक्त किया है। उन्होंने बताया कि राष्ट्र निर्माता अध्यापकों से पंजाब सरकार द्वारा चुनाव से पहले वायदे किए गए थे वह पूरे नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव मेनिफेस्टो के द्वारा अच्छी शिक्षा देने के लिए किए वायदे याद करवाने, हर तरह के कच्चे अध्यापकों को पूरे ग्रेड में बिना शर्त पक्के करने, हर 7 साल बाद जबरन बदली और 3 साल से पहले बदली न करने आदि की मद रद्द करने, पोस्टों घटाएगा रैशनेलाइजेशन नीति के साथ नई पीढ़ी के लिए रोजगार के मौके खत्म करने बंद करने, सरकारी स्कूलों के द्वारा अच्छी शिक्षा देने के लिए जीडीपी का 6 प्रतिशत शिक्षा के विकास और वृद्धि के लिए खर्च करने, डीए की रहती किश्तों का तुरंत नगद भुगतान करना, वेतन कमीशन की रिपोर्ट जारी करना और 15 प्रतिशत अंतरिम राहत ओर देना, दशकों से प्राइमरी स्कूलों में पढ़ा रहे उच्च शिक्षा प्राप्त अध्यापकों पर लगाई ब्रिज कोर्स की शर्त खत्म करने को लेकर ये रैली रखी थी, जिसमें अध्यापकों को लाठियां बरसाई गईं। उन्होंने कहा कि मुख्य मंत्री पंजाब से मांग की है कि 2 अप्रैल की मीटिंग से पहले 8 हजार अध्यापकों पर दर्ज पर्चे रद्द किए जाएं और अध्यापक अध्यापिकाओं के साथ मारपीट करने वाले पुलिस अधिकारियों खिलाफ बनती कार्रवाई की जाए। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते कहा कि यदि 2 अप्रैल को मुख्यमंत्री के साथ होने वाली मीटिंग में सरकार ने अध्यापकों की सभी मांगों मानने में किसी तरह की भी ढील दिखाई तो सांझा अध्यापक मोर्चा पंजाब की तरफ से उसी दिन अगले संघर्ष की तैयार की गई रूप रेखा का एेलान कर दिया जायेगा। उन्होेंने कहा कि सरकार पिछले लंबे समय से अध्यापकों की मांगों को न मानकर उनके साथ बेइंसाफी वाला रवैया इख्तियार कर रही है जिसके िखलाफ अध्यापक संघर्ष तीखा करेंगे जिसकी जिम्मेवारी प्रशासन की होगी। उन्होंने कहा कि सरकार उनकी मांगों को जल्द से जल्द पूरा करे।

अध्यापक संगठन अपनी मांगों को लेकर आज मुख्यमंत्री से करेंगे मीटिंग