नवांशहर

--Advertisement--

स्कूल और बसें बंद, दवाएं सिर्फ अस्पतालों से मिलेंगी

सुप्रीमकोर्ट की ओर से एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के दिए फैसले के विरोध में 2 अप्रैल को किए जा रहे भारत बंद के आह्वान...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:55 AM IST
सुप्रीमकोर्ट की ओर से एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के दिए फैसले के विरोध में 2 अप्रैल को किए जा रहे भारत बंद के आह्वान के मद्देनजर जिला नवांशहर में किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए करीब एक हजार पुलिस कर्मचारी सड़कों पर पेट्रोलिंग करेंगे। नवांशहर सब डिवीजन में करीब 500, बंगा में करीब 350 और बलाचौर में 150 कर्मचारियों को तैनात किया गया है। नवांशहर में 8, बंगा में 5 और बलाचौर में 3 पेट्रोलिंग पार्टियां तैनात रहेंगी। इन पेट्रोलिंग पार्टियों के अलावा हाईवे पेट्रोलिंग पार्टी व रैपिड एक्शन फोर्स की टीमें अलग से काम करेंगी। इसके अलावा तीनों सब डिवीजन में 3 रिजर्व टीमें बनाई गई है।

शनिवार देर शाम तक सीनियर पुलिस अधिकारियों ने अपने जूनियर को ब्रिफिंग की जाती रही और रविवार को भी बैठकों का दौर चलता रहा। जिले में डाकखाने, दूरसंचार बिल्डिंगों व सरकारी बिल्डिंगों की सुरक्षा के लिए भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। बंद के दौरान जिले के स्कूल बंद रहेंगे, बसें भी बंद रखी जाएगी। उधर, डीसी अमित कुमार और एसएसपी सतिंदर पाल सिंह ने विभिन्न शहरों का दौरा कर दलित व व्यापारिक संगठनों के साथ अलग-अलग बैठकें करके उन्हें शांति बनाए रखने की अपील की। राजनीतिक दलों और प्रशासनिक अधिकारियों के बीच हुई बैठकों में बंद के दौरान एंबुलेंसों या मरीजों को ले जाने वाली गाड़ियों को रास्ता देने का फैसला भी किया गया। इसके अलावा अस्पतालों व अस्पतालों के अंदर चलने वाली दवा की दुकानों से दवाई भी ली जा सकेगी। पुलिस ने शहर में फ्लैग मार्च भी किया। डीएसपी मुख्तयार राय ने बताया कि सुरक्षा के सभी प्रबंधन मुकम्मल है।

संगठनों का फैसला एंबुलेंस व मरीजों को दिया जाएगा रास्ता

डेढ़ दर्जन पेट्रोलिंग पार्टियां मुस्तैद, हाईवे पेट्रोलिंग पार्टी व रैपिड एक्शन फोर्स भी तैनात

लोगों में सुरक्षा की भावना बनाए रखने के लिए पुलिस ने शहर में फ्लैक मार्च किया, जिसका नेतृत्व एसडीएम आदित्य उप्पल और एसएसपी सतिंदर पाल सिंह ने किया ।

नवांशहर में 7 व बंगा में 3 जगह डायवर्ट होगा ट्रैफिक

नवांशहर सिटी में बाहर से आने वाले वाहनों के लिए 7 जगह से ट्रैफिक डायवर्ट किया गया है। बरनाला गेट, रेलवे फाटक बंगा रोड, महिंदीपुर गेट, बेगमपुर गेट, टी-प्वाइंट जाडला रोड राहों व रेलवे स्टेशन राहों से कोई भी बड़ा वाहन नवांशहर के अंदर नहीं आने दिया जाएगा। इसके अलावा रेलवे स्टेशन नवांशहर और होटल शाइन स्टार के आगे से कोई छोटा वाहन भी चंडीगढ़ चौक की तरफ नहीं जाने दिया जाएगा।

सरकारी व गैर सरकारी शैक्षणिक संस्थानों में छुट्टी

जिले के सभी शैक्षणिक संस्थानों स्कूलों-कालेजों (सरकारी-गैर सरकारी सभी) में सोमवार को बंद के चलते छुट्टी कर दी गई है। जिला शिक्षा अधिकारी विनोद कुमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को भारत बंद के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि कुछ स्कूलों में बोर्ड की प्रेक्टिकल परीक्षाएं होनी थी, वह परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं और उनका अगला शैड्यूल बाद में जारी होगा।

ड्यूटी मजिस्ट्रेट से लगातार संपर्क में रहेंगे अधिकारी

सुरक्षा प्रबंधों पर नजर रख रहे अधिकारी ड्यूटी मजिस्ट्रेट से लगातार संपर्क रखेंगे। पुलिस कर्मचारियों के पास पिस्तौल के अलावा डंडे व प्रोटेक्शन शीट जरूर रखने को कहा गया है। अगर कहीं किसी जगह प्रदर्शनकारी उग्र रूप धारण करेंगे तो तुरंत पुलिस की रिजर्व टीमों को बुलाकर इसे कंट्रोल करने की कोशिश की जाएगी। जरूरत पड़ी तो प्रदर्शनकारियों को शहर के बाहर खुले स्थानों (मैदानों, पैलेस, पार्किंग) में नजरबंद भी किया जा सकता है।

एक हजार पुलिस कर्मी चप्पे-चप्पे पर रखेंगे नजर, नवांशहर और बंगा में ट्रैफिक डायवर्ट

अफवाहों पर न ध्यान दें, शांति बनाए रखें : डीसी

बलाचौर | बंद के मद्देनजर डीसी अमित कुमार और एसएसपी सतिंदर ने राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों के साथ मीटिंग की। डीसी ने कहा कि बंद के दौरान अफवाहों पर ध्यान न दिया जाए। पेपर देने वाले बच्चों को रास्तों में तंग परेशान न किया जाए और एंबुलेंस, मरीजों व बुजुर्गों को न रोका जाए। दुकानदारों से भी दुकानें बंद करने के लिए शांतमय ढंग से अपील की जाए। शरारती व्यक्तियों पर ध्यान रखा जाए ताकि कोई शहर का माहौल खराब न कर सके। राजनीतिक पार्टियों के नुमाइंदों ने भरोसा दिलाया कि ऐसा कोई भी काम नहीं किया जाएगा, जिससे शहर का माहौल खराब हो या शहर वासियों का कोई नुकसान हो। उनका भारत बंद का फैसला सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ है। मीटिंग में एसडीएम जगजीत सिंह, डीएसपी अनिल कुमार कोहली, एसएचओ अजय कुमार, एसएचओ काठगढ़ गुरदयाल सिंह, तहसीलदार चेतन बग्गड़, पार्षद परमिंदर मेनका, पार्षद लाल बहादुर गांधी, पार्षद परमिंदर कुमार, बलजीत सिंह भारापुर, दिलबाग मेहंदीपुर, एडवोकेट कृष्ण भुट्टा, मनजीत बेदी, हरबंस लाल, हंस राज, रंजीत सज्जन, कुलविंदर, सरपंच जसविंदर, आम आदमी पार्टी के नेता प्रवेश खोसला, पवन बैंस आदि मौजूद थे।

जनरल कैटेगरी के लोग बोले-भाईचारे के लिए भारत बंद का समर्थन करेंगे

बलाचौर में बैठक में शामिल जनरल कैटेगरी के प्रतिनिधि।

बलाचौर | महाराणा प्रताप महल में एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में 2 अप्रैल को भारत बंद के आह्वान को लेकर जनरल कैटेगरी के लोगों ने मीटिंग की। उन्होंने एक्ट में संशोधन पर सुप्रीमकोर्ट के फैसले का स्वागत किया और कहा कि इस मामले में कानूनी लड़ाई लड़नी चाहिए न कि बंद की राजनीति। नगर कौंसिल के पूर्व प्रधान रणदीप कौशल और ध्रुव राणा ने कहा कि एससी एक्ट को लेकर फैसला अदालत ने दिया है और इसका जनरल कैटेगरी स्वागत करती है, क्योंकि कई मामलों में इस एक्ट का गलत इस्तेमाल भी हुआ है। उन्होंने कहा कि बलाचौर में दुकानदार, व्यापारी और जनरल कैटेगरी भाईचारे की सांझ के लिए बंद का समर्थन करेगी। उन्होंने कहा कि शहर में अमन कानून की स्थिति बनाए रखने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा और किसी भी बाहरी व्यक्ति को कानून व्यवस्था बिगाड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी। मीटिंग में बलवीर राणा, राजू आनंद, बलदेव सिंह, बबलू राणा, भूपिंदर राणा, एडवोकेट पुष्प राणा, रोहित बादल, अनिल कुमार, विनोद राणा, चरनजीत शर्मा, सुभाष राणा, बिट्टू राणा मौजूद थे।

X
Click to listen..