पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Nawanshahr News Ayushman Health Insurance Scheme Will Be Started In The District On 20th Dr Bhatia

20 को आयुष्मान सेहत बीमा योजना की जिले में होगी रस्मी शुरूआत : डॉ. भाटिया

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आयुष्मान भारत सरबत सेहत बीमा योजना संबंधी सिविल सर्जन दफ्तर में मीटिंग हुई, जिसमें सिविल सर्जन डाॅ. राजिंदर प्रसाद भाटिया और डिप्टी मेडिकल कमिश्नर डाॅ. राज रानी ने ट्रेनिंग भी दी। उन्होंने बताया कि योजना के तहत 1 अगस्त से लाभर्थियों के कार्ड बनाए जा रहे हैं जोकि पहले से प्राप्त लिस्ट अनुसार बनाए जाने है। इस स्कीम का 20 अगस्त को पंजाब में उद्घाटन किया जा रहा है। उसी दिन रस्मी तौर पर जिला शहीद भगत सिंह नगर में योजना शुरू की जाएगी।

उन्होंने बताया कि जिले में 1 लाख 4 हजार परिवारों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। पूरे परिवार का 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज सरकारी और इमपेनल्ड अस्पतालों में किया जाएगा। इस दौरान सरकारी अस्पताल, प्राइवेट इमपेनल्ड अस्पताल और आरोग्य मित्रों को फार्म भरने के बारे में जानकारी भी दी गई। डिप्टी मेडिकल कमिश्नर डाॅ. राज रानी ने बताया कि पंजाब की 70 प्रतिशत आबादी को इस योजना में साल 2011 में किए गए सामाजिक आर्थिक जाति गणना सर्वे में आने वाले लाभर्थियों को शामिल किया गया है। इसके अलावा फूड सिक्योरिटी एक्ट 2013 के तहत आने वाले लाभर्थियों (नीले राशन कार्ड धारक), किरत विभाग के साथ रजिस्टर्ड निर्माण अधीन मजदूर, पंजाब मंडी बोर्ड के साथ रजिस्टर्ड किसान, अति छोटे व्यापारी शामिल किए गए। उन्होंने बताया कि जिले के सिविल अस्पताल नवांशहर, सड़ोआ, बलाचौर, राहों, मुकंदपुर, बंगा और निजी अस्पताल (राजा अस्पताल, आईवीवाई, सर्व ईएनटी नवांशहर और करन अस्पताल, दृष्टि आई केयर बंगा) शामिल किए गए है। इन अस्पतालों में 20 अगस्त से सेहत सेवाएं मिलनी शुरू हो जाएगी। सभी सरकारी और इमपेनल्ड अस्पतालों द्वारा योजना के कार्ड मुफ्त में बनाए जाएंगे जबकि कामन सर्विस सेंटर में एक कार्ड के लिए 30 रुपए सेवा फीस ली जाएगी। कार्ड बनाने के लिए व्यक्ति को अपना आधार कार्ड, नया नीला राशन कार्ड, निजी, व्यक्तिगत पैन कार्ड (छोटे व्यापारी के लिए), रजिस्ट्रेशन कार्ड (निर्माण अधीन मजदूर के लिए) नजदीकी कामन सर्विस सेंटर पर या दिखाए गए सरकारी व इमपेनल्ड अस्पतालों में संपर्क करना होगा और लाभार्थी का ऑनलाइन डाटा सर्च करके कार्ड बना देगा।

खबरें और भी हैं...