कौंसिल ने प्रोजेक्ट के पहले चरण के तहत एडवांस में मंगवाई 500 एलईडी, नवंबर के मध्य में शुरू होगा काम

Nawashahar News - आखिर नगर कौंसिल ने बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों को चलाने के लिए रास्ता निकाल लिया है। नगर कौंसिल ने एलईडी का ठेका लेने...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 08:30 AM IST
Nawanshahr News - council launches 500 led in advance as part of the first phase of the project work will begin in mid november
आखिर नगर कौंसिल ने बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों को चलाने के लिए रास्ता निकाल लिया है।

नगर कौंसिल ने एलईडी का ठेका लेने वाली कंपनी से एडवांस में ही 500 एलईडी लाइट्स सेट मंगवा लिए हैं। शहर की स्ट्रीट लाइटों को एलईडी लाइटों में बदलने के प्रोजेक्ट के पहले चरण के तहत यह मंगवाई गईं 500 एलईडी लाइटें उन प्वाइंट्स पर लगाई जाएंगी जिन प्वाइंट्स पर स्ट्रीट लाइटें मरम्मत के अभाव के कारण बंद हो गई हैं या फिर खराब ही हो गई हैं। ऐसा करके कौंसिल दो उद्देश्य हल करना चाहती है। एक तो कौंसिल बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों को एलईडी में बदलवा लेगी, वहीं पर कौंसिल ठेकेदार को भी इसी बहाने यहां पहले काम करने के लिए मजबूर कर सकती है। ऐसे में कंपनी चाह कर भी नवांशहर में स्ट्रीट लाइटों को एलईडी लाइटों में तबदील करने के प्रोजेक्ट में देरी नहीं कर सकती। सब कुछ सही रहा तो नवंबर महीने के दरमयां ही शहर में स्ट्रीट लाइटों को एलईडी करने का काम शुरू होने की पूरी संभावना है। बता दें कि बीते करीब अढाई सालों से शहरवासियों को एलइडी के सपने दिखाने वाली कौंसिल मौजूदा स्ट्रीट लाइट का ही रख-रखाव ठीक ढंग से नहीं कर पाई। शहर में हालात ये हैं कि रात सात बजते ही मुख्य चौराहे व सड़कें अंधेरे में खो जाती हैं। बंगा रोड, चंडीगढ़ चौक, ओल्ड कोर्ट रोड, छोकरां मोहल्ला, वार्ड नंबर 2 व 7 आदि हर जगह आधी लाइटें बंद हैं। सड़कों में गड्ढे पहले से ही बहुत हैं और अंधेरी सड़कें लोगों के लिए ओर परेशानी पैदा कर रही हैं। शहर की अधिकतर बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवाने के लिए कौंसिल के पास एक ही कर्मचारी बचा है। स्ट्रीट लाइट के रखरखाव का टेंडर पिछले लंबे समय से किया ही नहीं गया तथा हर बार कौंसिल की ओर से इसे कुछ महीनों के लिए पुराने रेट्स पर ही बढ़ा दिया जाता था। लेकिन अब इसे खत्म हुए भी लगभग सात महीने हो चुके हैं तथा ठेकेदार के सभी कर्मचारी काम छोड़कर चले गए हैं। ऐसे में अब शहर में स्ट्रीट लाइट व्यवस्था राम भरोसे ही है। बता दें कि शहर में स्ट्रीट लाइट के रख-रखाव के लिए कौंसिल की ओर से हर साल टेंडर किया जाता है। लेकिन एक साल से टेंडर ही नहीं किया गया, बल्कि पुराने ठेकेदार को ही पुराने रेट्स पर कुछ महीनों के लिए कई बार बढ़ाया गया। लेकिन इस दौरान ठेकेदार को पेमेंट मिलने की भी दिक्कतें होती रहीं, लेकिन अब मार्च 2019 के बाद से करार को बढ़ाया नहीं गया, जिसके बाद ठेकेदार की ओर से रखे गए तीन कर्मचारियों ने काम छोड़ दिया। ठेके पर छह कर्मचारी रखने के दो महीने पहले पास किए गए प्रस्ताव को लेकर भी उच्चाधिकारियों ने कुछ आब्जेक्शन लगा दिए हैं। ऐसे में स्ट्रीट लाइट को लेकर कौंसिल की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लाजमी हैं।

बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवाने के लिए कौंसिल के पास एक ही कर्मचारी बचा

चंडीगढ़ चौक जिसकी लाइटें बंद पड़ी हैं।

6 कर्मचारी ठेके पर रखने के प्रस्ताव पर मांगी क्लेरिफिकेशन

शहर में स्ट्रीट लाइट ठीक करने के लिए एक कर्मचारी होने के चलते कौंसिल ने 6 नए कर्मचारी ठेके पर रखने संबंधी दो माह पहले प्रस्ताव पास किया था। लोकल बॉडीज के डायरेक्टर ने इस प्रस्ताव नंबर 441 को लेकर ऑब्जेक्शन लगाते क्लेरिफिकेशन मांगी है। ऐसे में ये कर्मचारी रखने का मामला भी ठंडे बस्ते में चला गया है।

दूसरे चरण में स्ट्रीट लाइटों को एलईडी लाइट्स में किया जाएगा तबदील : कौंसिल प्रधान

नगर कौंसिल प्रधान ललित मोहन पाठक का कहना है कि उनकी उच्च अधिकारियों के साथ बात हुई है। जिसके तहत इस प्रोजेक्ट के पहले चरण में शहर में बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों को एलइडी करने के िलए संबंधित ठेकेदार कंपनी से 500 एलईडी सेट मंगवाए हैं। जिसे स्थानीय स्तर पर कर्मी रख कर लगवाया जाएगा। दूसरे चरण के तहत शहर की सभी स्ट्रीट लाइटों को एलईडी लाइट्स में तबदील किया जाएगा। ललित मोहन पाठक, नगर कौंसल प्रधान

X
Nawanshahr News - council launches 500 led in advance as part of the first phase of the project work will begin in mid november
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना