तार डालते हुए तोड़ी पाइप, चार मोहल्लों की आबादी को पूरा दिन नहीं मिला पानी

Nawashahar News - टेलीफोन कंपनी के कर्मचारियों ने फाइबर केबल डालते वक्त शुक्रवार शाम को सलोह रोड पर ब्रह्मचारी मंदिर के पास वाटर...

Bhaskar News Network

Nov 10, 2019, 08:30 AM IST
Nawanshahr News - pipes broken by laying wires population of four mohallas did not get water all day
टेलीफोन कंपनी के कर्मचारियों ने फाइबर केबल डालते वक्त शुक्रवार शाम को सलोह रोड पर ब्रह्मचारी मंदिर के पास वाटर सप्लाई की पाइप तोड़ दी। वाटर सप्लाई की मेन पाइट टूटने के कारण सलोह रोड, विकास नगर, प्रिंस कालोनी आदि मोहल्लों में पानी की सप्लाई ठप हो गई और करीब 5 हजार आबादी को पानी नहीं मिला। पाइप टूटने का पता चलने के बाद कौंसिल के कर्मचारियों ने रिपेयर शुरू की लेकिन देर शाम तक पाइप को ठीक नहीं किया जा सका था। उधर, केबल डाल रही कंपनी बीबीएनएल के सुनील कुमार ने बताया कि लाइन को जल्द ही ठीक करवा दिया जाएगा।

बता दें कि टेलीफोन कंपनी बीबीएनएल द्वारा नवांशहर में तार डालने का काम किया जा रहा है। शुक्रवार बाद दोपहर सलोह रोड पर जैसे ही कंपनी के कर्मियों ने काम शुरू किया तो ब्रह्मचारी मंदिर के पास तार डालते वक्त उनसे वाटर सप्लाई की पाइप टूट गई। पाइप टूटने के साथ ही सलोह रोड से विकास नगर, प्रिंस कालोनी, माडल टाउन की तरफ की वाटर सप्लाई बंद हो गई। आनन फानन में कंपनी के प्रतिनिधि सुनील कुमार ने पाइप ठीक करवाने की कोशिश की लेकिन ठीक नहीं किया जा सका। शनिवार सुबह भी पाइप का फाल्ट ढूंढने और उसे ठीक करने में घंटों लग गए मगर फिर भी देर शाम तक वाटर सप्लाई पूरी तरह से चालू नहीं हो पाई थी। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि शहर के बीच इस तरह की मशीनों से तारें डालने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए, जिनमें बिना खुदाई के ही डग्गिंग करके तारें डाली जाती हो।

टेलीफोन भी बंद...लोग बोले-ऐसी मशीनें चलाने की मंजूरी ही नहीं देनी चाहिए

सलोह रोड पर ड्रिलिंग करने वाली मशीन और वह जगह जहां से वाटर सप्लाई की पाइप टूटी है।

देर शाम टूटी पाइप, दूसरे दिन भी नहीं हुई ठीक

फाइबर केबल डालते वक्त बीबीएनएल कंपनी के कर्मचारियों से दो जगहों से टेलीफोन लाइनें भी काट गईं, जिसकी वजह से सलोह रोड पर कई घरों और व्यापारिक संस्थानों के कनेक्ट और बीएसएनएल के फोन व इंटरनेट बंद हो गए। शुक्रवार देर शाम को बंद हुई फोन व वाटर सप्लाई के बारे में अधिकतर लोगों को सुबह ही पता चला, जब नहाने के वक्त घरों में पानी नहीं आया। इससे लोगों को मुश्किल का सामना करना पड़ा और वह पानी के लिए इधर-उधर भटकते रहे।

बिना सड़क की खुदाई के कंपनी डालती हैं तार

टेलीफोन फाइबर डालने की नई तकनीक में बिना सड़क की खुदाई किए ड्रिलिंग के जरिए तार को डाला जाता है। इस तकनीक का सबसे बड़ा फायदा ये रहता है कि सड़क में एक जगह छोटा का खड्डा कर तार डाल दी जाती है तथा पूरी सड़क तोड़ने की जरूरत नहीं पड़ती। लेकिन नुकसान ये है कि ड्रिलिंग मशीन को ये नहीं पता चलता कि कहां पर वाटर सप्लाई लाइन है या फिर कहां पर टेलीफोन या सीवरेज लाइन। इसलिए शहर के अंदर ये तकनीक कामयाब नहीं हो पाती।

कंपनी से बात करके काम के तरीके को बदला जाएगा : पाठक

नगर कौंसिल के प्रधान ललित मोहन पाठक ने कहा कि टूटी पाइप को ठीक करके रात तक घरों की जल सप्लाई बहाल कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि शहर में फाइबर केबल डालने के लिए इस्तेमाल की जा रही ड्रिलिंग मशीन के काम के तरीके को लेकर टेलीफोन कंपनी के अधिकारियों के साथ बातचीत की जाएगी। इसमें बदलाव करवाया जाएगा। पाठक बताया कि कौंसिल के अधिकारियों ने कंपनी को आगे से काम करते वक्त सावधानी बरतने को कह दिया है।

X
Nawanshahr News - pipes broken by laying wires population of four mohallas did not get water all day
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना