उधनोवाल मर्डर केस में सियासी रंग, मालेवाल में अकाली दल का विरोध, नेताओं ने आत्मिक शांति के लिए रखा मौन

Nawashahar News - भास्कर संवाददाता | बलाचौर/नवांशहर गांव उधनोवाल में महिला के हुए मर्डर मामले के चलते शुक्रवार को गांव मालेवाल...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:25 AM IST
Nawanshahr News - political colors in udaanovar murder case protests against akali dal in malevale leaders kept silent for spiritual peace
भास्कर संवाददाता | बलाचौर/नवांशहर

गांव उधनोवाल में महिला के हुए मर्डर मामले के चलते शुक्रवार को गांव मालेवाल में प्रचार करने पहुंचे अकाली नेताओं को मृतक सुमन के पारिवारिक सदस्यों और गांववासियों के विरोध का सामना करना पड़ा। मृतक सुमन का मायका गांव मालेवाल कंडी है। पीड़ित परिवार का कहना था कि अकाली दल के लोगों ने उनको इंसाफ दिलवाने में कोई कदम नहीं उठाया। हालांकि अकाली दल के नेताओं ने गांव में पहले सुमन की आत्मा की शांति के लिए 2 मिनट का मौन रखा। वक्ताओं ने कहा कि वे पहले दिन से ही कह रहे हैं कि सुमन की हत्या के आरोपियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। इलाके में एक चर्चा यह भी शुरू हो गई है कि सुमन मर्डर केस में राजनीति शुरू हो गई है।

बता दें कि गांव उधनोवाल में करीब 2 सप्ताह पहले सुमन नाम की एक महिला का मर्डर कर दिया गया था। सुमन का शव मिलने के कुछ समय बाद ही गांव के एक युवक का पेड़ से लटकता हुआ शव मिला था। मृतका के भाई के बयान पर पुलिस ने मृतका के पति सुभाष, देवर शम्मी और 2 महिलाओं पर हत्या का मामला दर्ज किया है। युवक बिक्रम उर्फ बिक्कर के कत्ल केस में पुलिस ने 3 लोगों (जिसमें 2 लोग सुभाष व शम्मी महिला के मर्डर में नामजद हैं, जबकि एक अन्य युवक संजू को नामजद किया है)। सरपंच चौधरी दर्शन लाल ने कहा कि मृतक सुमन के मायके पक्ष व गांव के लोग इस बात से आहत हैं कि आरोपी परिवार व अकाली दल से जुड़े लोग पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाने नहीं आए। आरोपी अकाली दल से जुड़े हुए हैं और ऐसे में अकाली दल के कुछ नेताओं ने इस मामले में सही भूमिका भी अदा नहीं की। दूसरी तरफ अकाली नेता एडवोकेट राजविंदर लक्की ने कहा कि सुमन के मर्डर का उन्हें बेहद दुख है। वे पहले दिन से ही जांच की बात कहते आए हैं। जो भी दोषी है उस पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। पीड़ित परिवार से उनकी संवेदना है।

उधनोवाल में हुए थे दो मर्डर पुलिस ने 2 आरोपियों को किया है गिरफ्तार

गांव मालेवाल में काले झंडे लेकर अकाली नेताओं का विरोध करते गांववासी।

पुलिस के लिए भी मर्डर केस बन चुका है सिरदर्द

सुमन और बिक्कर की हत्या का केस पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया है। पुलिस ने 2 अलग-अलग दर्ज मामलों में नामजद 3 पुरुष आरोपियों में से 2 को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी का 3 दिन रिमांड लिए जाने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भी भेजा चुका है जबकि दूसरे आरोपी का भी 6 दिन का पुलिस रिमांड हो चुका है। ऐसे में पुलिस न तो अभी तक सुमन के मर्डर में इस्तेमाल हथियार का कुछ पता लगा पाई है और न ही पेड़ से लटके मिले बिक्कर का मोबाइल फोन ढूंढ नहीं पाई है। मामले के लिए जिला पुलिस ने एक एसआईटी भी गठित की है, जिसकी अगुवाई एसपी (जांच) वजीर सिंह खैहरा कर रहे हैं। वजीर सिंह खैहरा ने मामले की जांच होने की बात कह मीटिंग में होने की बात कह फोन काट दिया।

X
Nawanshahr News - political colors in udaanovar murder case protests against akali dal in malevale leaders kept silent for spiritual peace
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना