दुकानदारों को तीन दिन का अल्टीमेटम-अगर फिर मिले लिफाफे तो होगा जुर्माना, दुकान भी की जा सकती सील

Nawashahar News - प्लास्टिक के लिफाफों व सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल को पूर्ण तौर पर बंद करने के लिए जिला प्रशासन ने सख्त रूख...

Bhaskar News Network

Oct 12, 2019, 08:41 AM IST
Nawanshahr News - shopkeepers get ultimatum for three days if envelopes are received then fine shop can also be sealed
प्लास्टिक के लिफाफों व सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल को पूर्ण तौर पर बंद करने के लिए जिला प्रशासन ने सख्त रूख अपना लिया है। शुक्रवार को सहायक कमिश्नर रजनीश अरोड़ा ने शहर में बैन प्लास्टिक का प्रयोग बंद नहीं होने पर न सिर्फ नगर कौंसिल के अधिकारियों की खिंचाई की बल्कि दुकानदारों को भी साफ हिदायत दी कि अगर किसी भी दुकान में प्लास्टिक के लिफाफे या सिंगल यूज प्लास्टिक का सामान पड़ा है तो वे मंगलवार तक इसे वापस कर दे। नहीं तो बुधवार को वह खुद छापेमारी कर सकते हैं और अगर उस दौरान किसी भी दुकान से प्लास्टिक के लिफाफे या सिंगल यूज प्लास्टिक का सामान मिला तो न सिर्फ भारी-भरकम जुर्माने होंगे, साथ ही दूसरी या तीसरी बार गलती पर दुकान भी सील कर दी जाएगी।

शुक्रवार को नगर कौंसिल के कर्मचारियों, व्यापार मंडल के प्रतिनिधियों, जिला शिक्षाधिकारी और बीपीईओ की मीटिंग में सहायक कमिश्नर रजनीश अरोड़ा ने डीईओ व बीपीईओज को स्कूलों में बच्चों को सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग बंद करने को जागरूक करने को कहा। उन्होंने कहा कि स्वच्छता मुहिम, तंदरुस्त पंजाब मुहिम और प्लास्टिक मुक्त पंजाब मुहिम सभी एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं। जब देश व शहर प्लास्टिक से मुक्त होंगे तो अपने आप तंदरुस्ती आएगी और स्वच्छता मुहिम को भी बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक मुक्त शहर, जिला, प्रदेश व देश बनाना हमारा सभी का फर्ज है, इसके लिए सभी को तीन दिन में प्रयास कर अपनी अपनी दुकानों, घरों व व्यापारिक संस्थानों को प्लास्टिक लिफाफों व सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करना हैं।

16 दुकानों से 8 किलो प्लास्टिक लिफाफे मिले, 3300 जुर्माना

गढ़शंकर रोड पर एक दुकान पर चालान काटते कौंसिल के कर्मचारी।

दुकान पर दूसरी बार प्लास्टिक लिफाफा मिलने पर होगा 5 हजार रुपए जुर्माना

प्लास्टिक के लिफाफों व सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ नगर कौंसिल नवांशहर का अभियान शुक्रवार को भी जारी रहा। नगर कौंसिल की टीम ने सब्जी मंडी और गढ़शंकर रोड की 70 दुकानों को चैक किया। कौंसिल कर्मचारियों को 16 दुकानों पर प्लास्टिक के लिफाफे मिले। कौंसिल के सुपरिंटेंडेंट अमरदीप सिंह ने बताया कि 16 दुकानों से कुल 8 किलो प्लास्टिक के लिफाफे मिले हैं, जिन्हें 200 रुपए से लेकर 500 रुपए तक का जुर्माना किया गया है। उन्होंने बताया कि अब जुर्माने की रकम को भी बढ़ाया जा रहा है। जिस दुकान से दूसरी बार लिफाफे पकड़े गए, उसे 5 हजार रुपए जुर्माना किया जाएगा।

माइक्रो प्लास्टिक का सेहत पर असर | प्लास्टिक के ऐसे बारीक कण जो 5 एमएम से छोटे हैं, उन्हें माइक्रो प्लास्टिक कहा जाता है। 100 एमएम से छोटे प्लास्टिक कण नैनो प्लास्टिक। यह दोनों ही हमारी इनवायरमेंट के लिए खतरनाक हैं। दुनिया भर में सप्लाई हो रहा 90% समुद्री नमक व 800 प्रजाति के सी-फूड माइक्रो प्लास्टिक से प्रदूषित है। ये हमारी फूड चेन में प्रवेश कर गया है। इंसानों में फेफड़ों व किडनी के कैंसर के लिए सर्वाधिक जिम्मेदार यही माइक्रो प्लास्टिक है जो किसी न किसी रूप में ह्यूमन बॉडी में जा रही है।

इधर, मॉर्निंग वाॅक पर निकले डीसी ने ग्रामीणों को बांटे कपड़े के थैले

भास्कर संवाददाता | नवांशहर/बलाचौर

डिप्टी कमिश्नर विनय बुबलानी ने शुक्रवार को गांव अटल मजारा में पहुंच कर लोगों और युवाओं के साथ सुबह की सैर की। उन्होंने ग्राम पंचायत और मीरी पीरी यूथ वेलफेयर क्लब के एक सादे कार्यक्रम को भी संबोधित किया। उन्होंने कार्यक्रम में लोगों को प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने को प्रेरित करते हुए कपड़े के थैले भी बांटे।

डीसी विनय बुबलानी ने कहा कि नौजवानों, पंचायत मेंबरों और लोगों द्वारा अपने गांव को ‘मॉडल गांव’ बनाने के लिए अपने स्तर पर किए प्रयास बेमिसाल हैं। गांव में मकानों पर शहरों की तर्ज पर नेम प्लेटों, मच्छर मार दवाई का स्प्रे करने वाली छोटी मशीन, गांव को हरा भरा करने के लिए किए गए प्रयास, ट्रैफिक सिग्नल लगाने और गंदे पानी के छप्पड़ को साफ करना, पंप सेखेतों को सिंचाई के लिए सप्लाई करने के प्रयास को दूसरे गावों के लिए बड़ी मिसाल करार दिया। उन्होंने नशा मुक्त समाज, प्लास्टिक मुक्त भारत, तंदरुस्त पंजाब की सृजना में भी सहयोग देने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि किसी भी अच्छे काम के लिए पहल करने की जरूरत होती है और उसके बाद लोग उस काम के साथ काफिला बन कर जुड़ते जाते हैं।

डीसी ने कहा कि पंजाब को नशा मुक्त बनाने, देश को शारीरिक तौर पर सेहतयाब और तंदरुस्त रखने, वातावरण को बचाने के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाने पर प्लास्टिक से मुक्त करने की शुरूआत हमें अपने घरों से करनी पड़ेगी और उनको इस बात की खुशी है कि गांव अटाल मजारा सहित जिले के कुछ गांव समाज के लिए मिसाल बन कर उभरे हैं। गांव में पौधा लगाने के साथ ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा कपड़े के थैले बांटे गए। इस मौके पर जिले के सहायक डायरेक्टर युवक सेवाएं कैप्टन मनतेज सिंह चीमा, गांव के सरपंच गुरबिंदर सिंह, क्लब के प्रधान लखवीर सिंह, गुरमुख सिंह, बलविंदर सिंह, कुलदीप सिंह, मक्खण सिंह, सतनाम सिंह, दविंदर सिंह, रघवीर सिंह और गांव की महिलाएं भी थीं।

अटाल मजारा के विकास की सराहना करके मीरी पीरी यूथ क्लब के प्रयास की प्रशंसा की

लोगों को कपड़े के थैले का इस्तेमाल करने को प्रेरित करते डीसी विनय बुवलानी।

गांव की महिलाओं की दहेज विरोधी मुहिम का स्वागत किया

डीसी ने गांव की महिलाओं द्वारा दहेज और अन्य सामाजिक बुराइयों विरोधी मुहिम का स्वागत करते गांव में जिले के तीसरे केवल लड़कियों के युवक सेवाएं क्लब को कायम करने का वचन लिया गया। इससे पहले मंढाली और काहमा में जिले के ऐसे दो क्लब बनाए जा चुके हैं, जिन का उद्देश्य महिला सशक्तीकरण और सामाजिक सोच में बेटियों के प्रति परिवर्तन लाना होगा।

Nawanshahr News - shopkeepers get ultimatum for three days if envelopes are received then fine shop can also be sealed
X
Nawanshahr News - shopkeepers get ultimatum for three days if envelopes are received then fine shop can also be sealed
Nawanshahr News - shopkeepers get ultimatum for three days if envelopes are received then fine shop can also be sealed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना