जब तक जीवन में मुसीबत न आए तब तक आप निखर नहीं सकते

Nawashahar News - मंदिर शिवधाम नेहरू गेट में श्रीमद् भागवत की आरती उतारते भक्त। भास्कर संवाददाता | नवांशहर राहों रोड स्थित...

Nov 10, 2019, 08:27 AM IST
मंदिर शिवधाम नेहरू गेट में श्रीमद् भागवत की आरती उतारते भक्त।

भास्कर संवाददाता | नवांशहर

राहों रोड स्थित मंदिर शिवधाम नेहरू गेट में कथा वाचक गोपाल कृष्ण शास्त्री ने श्रीमद् भागवत कथा के छठे दिन बताया कि जब तक जीवन में मुसीबत न आए, तब तक आप निखर नहीं सकते और मुसीबतें आपको निखारने के साथ साथ समझदार भी बनाती हैं। साथ ही यह भी दिखाती हैं कि कौन आपके साथ है और कौन नहीं। सच मानो तो सिर्फ कृष्ण तुम्हारा है। भगवान श्रीकृष्ण ने अपना सारा जीवन ही दुखों में गुजारा है। उनका जन्म जेल में हुआ तो उनको उनकी जन्म देने वाली माता ने नहीं पाला मगर फिर भी है हंसते हुए हर दुख का सर्वनाश करते हुए चले गए।

श्रीमद् भागवत कथा के पांचवें दिन देर रात को कृष्ण द्वारा पूतना का उद्धार एवं श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं का सुंदर वर्णन किया गया। कथा वाचक गोपाल कृष्ण शास्त्री ने बताया कि भगवान उसको नहीं देखते जो बनावटी होता है। पूतना भगवान के सामने आई लेकिन भगवान ने उसे देखा तक नहीं क्योंकि वो कपट रूप बनाकर आई थी। हम भगवान के समक्ष जब भी जाते हैं तो जैसे हैं वैसे नहीं जाते, दिखाने के लिए जाते हैं। कभी कभार तो भक्ति भी दूसरों को दिखाने के लिए करते हैं खुद के लिए तो भक्ति भी नहीं करते। कथा को आरती के वाद विश्राम दिया गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना