• Hindi News
  • National
  • Pathankot News 9 Crore In The Last Day Of Ots Policy Total Recovery Of Rs23 Crores In 25 Days

ओटीएस पॉलिसी के अंतिम दिन वसूले 9 करोड़, 25 दिन में कुल Rs.23 करोड़ रिकवरी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
द हिंदू को-आॅपरेटिव बैंक लिमिटेड के 80.82 करोड़ के एनपीए की वसूली के लिए लागू की वन टाइम सेटलमेंट पॉलिसी (ओटीएस) के अंतिम दिन शनिवार को 9 करोड़ की रिकवरी हो पाई। इस तरह ओटीएस के तहत बैंक ने 23 करोड़ की रकम इकट्ठा हो चुकी है। बैंक का दावा है कि 23 करोड़ इकट्ठा होने से एनपीए में से 50 फीसदी रकम यानि 40 करोड़ की कटौती होगी। दूसरी तरफ ओटीएस में शामिल न होने वाले बकाएदारों पर सोमवार से बैंक सख्ती के मूड में दिख रहा है और उनकी प्राॅपर्टी सील कर कुर्की करने की तैयारी भी की जा रही है।

बता दें कि एनपीए के चलते आरबीआई ने बैंक के खातों से निकासी पर रोक लगाई है और सरकार की ओर से बैंक चलाने के लिए ज्वाइंट रजिस्ट्रार जालंधर भूपिंद्र सिंह की निगरानी में 5 सदस्यीय वर्किंग कमेटी गठित की है। बैंक ने अभी तक 75 डिफाल्टरों, उनके गारंटर और पार्टनर के वारंट भी इश्यू कराए थे और 4 डिफाल्टरों को गिरफ्तार किया गया था। रिकवरी के लिए ओटीएस स्कीम लागू की थी। इसके तहत 25 दिन में बैंक ने 23 करोड़ की रिकवरी की है। अंतिम दिन बैंक को कैश, आरटीजीएस समेत विभिन्न बैंकिंग माध्यमों से 9 करोड़ की राशि जमा हुई है। वर्किंग कमेटी के चेयरमैन व ज्वाइंट रजिस्ट्रार भूपिंद्र सिंह वालिया ने कहा कि एनपीए के 43 अकाउंट क्लॉज हुए हैं और उसमें 50 फीसदी की कटौती होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि ओटीएस के तहत पैसा जमा नहीं कराने वाले डिफाल्टरों के खिलाफ अब सख्त रूख अपनाया जाएगा और उनकी प्राॅपर्टी की बेचने की कार्रवाई शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि बैंक को पैरों पर खड़ा करने के लिए प्रयास आगे बढ़ाए जाएंगे और खर्चे घटाने को प्राथमिकता दी जा रही है।

सोमवार से बैंक प्राॅपर्टी सील कर कुर्की करने की तैयारी में है

खबरें और भी हैं...