कैंट स्टेशन पर आईआरसीटीसी के जन आहार केंद्र का ठेका खत्म, 10 दिन से बंद है रेस्टोरेंट

Pathankot News - रेलवे की ओर से पठानकोट कैंट स्टेशन को माॅडल स्टेशन बनाने के दावे किए जा रहे हैं। लेकिन, वहीं दूसरी ओर कैंट स्टेशन पर...

Nov 11, 2019, 08:35 AM IST
रेलवे की ओर से पठानकोट कैंट स्टेशन को माॅडल स्टेशन बनाने के दावे किए जा रहे हैं। लेकिन, वहीं दूसरी ओर कैंट स्टेशन पर लगभग 10 दिन से आईआरसीटीसी का जन आहार भोजनालय बंद होने के कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रेस्टोरेंट बंद होने के कारण यात्रियों को यहां पानी की बोतल, चाय व खााने के लिए परेशान होना पड़ रहा है।

पठानकोट कैंट स्टेशन पर रोजाना लगभग 80 लंबी दूरी की ट्रेनें अप-डाउन करती हैं अाैर सभी ट्रेनों का स्टाॅपेज होने के कारण यात्रियों को खाने पीने का सामान उपलब्ध हो जाता है। आईआरसीटीसी की ओर से यहां पर खोले गए भोजनालय में यात्रियों को कम दाम पर यहां रेलनीर पानी, चाय व खाना उपलब्ध करवाया जाता है। वहीं, चिप्स, कोल्ड ड्रिंकस, बिस्कट, समोसा सहित अन्य खाने पीने का सामान भी आईआरसीटीसी के द्वारा निर्धारित रेट पर दिया जाता है। 30 अक्तूबर से जन आहार बंद होने के कारण अब स्टेशन पर अवैध वेंडरों की ओर से यात्रियों को महंगे दामों पर खाने पीने का सामान बेचा जा रहा है। यहां तक की कैंट स्टेशन पर अब छोले भटूरे स्टाॅल पर भी खाने पीने के सामान सहित पानी की बोतलें यात्रियों को बेची जा रही हैं। जन आहार बंद होने के कारण यात्रियों को मजबूरी में महंगे दामों पर रेलनीर की बजाय अन्य पानी की बोतल व खाने पीने का सामान लेना पड़ रहा है। हालांकि रेलवे की ओर से प्लेटफार्म नंबर दो व एक पर एक-एक स्टाॅल चाय के खोले हैं, लेकिन वहां पर केवल चाय ही मिलती है। यात्रियों को 15 रुपए में रेलनीर का पानी न मिलने के कारण 20 रुपए में पानी की बोतल लेनी पड़ रही है। वहीं, 25 रुपए की बजाए अब वेंडरों से 30 से 35 रुपए में खाना लेना पड़ रहा है।


13 नवंबर को ध्रुव पार्क में मनाया जाएगा पूर्व सैनिकों का सम्मेलन

भास्कर संवाददाता|परमानंद

जीओजी टीम ने गांव मीलवां में ब्लाॅक प्रधान सूबेदार मेजर ज्ञान चंद के नेतृत्व में बैठक की। इसमें जीओजी ने उपप्रधानों के साथ विचार-विमर्श किया गया। मेजर ज्ञान चंद ने बताया कि 21 सब एरिया हेडक्वार्टर की ओर से ध्रुव पार्क पठानकोट में 13 नवंबर बुधवार को कार्यक्रम किया जा रहा है। इसमें सभी वीर नारियों को एवं विधवाओं को शामिल होने की अपील की गई है। सभी उपप्रधानों को बताया गया कि सभी पंचायतों के साथ मिलकर विकास कार्य को करवाएंगे। किसी के साथ किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाएगा सभी पंचायतों को पूर्ण तौर पर सहयोग दिया जाएगा। इस अवसर पर मेजर किशन चंद, कैप्टन करतार चंद, सूबेदार बूटा राम, सूबेदार मेजर राजकुमार, हवालदार प्रवीण कुमार, पुरुषोतम लाल, रजिंदर सिंह, सूबेदार मेजर सत्यपाल सिंह आदि मौजूद रहे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना