• Home
  • Punjab News
  • Pathankot News
  • 15 दिन में पैसे जमा कराने को कहा, नहीं तो गिरफ्तारी
--Advertisement--

15 दिन में पैसे जमा कराने को कहा, नहीं तो गिरफ्तारी

द हिंदू कोआपरेटिव बैंक ने बोर्ड आफ डायरेक्टर्स सस्पेंड होने के बाद 88.13 करोड़ की रिकवरी पर फोकस शुरू कर दिया गया है।...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:45 AM IST
द हिंदू कोआपरेटिव बैंक ने बोर्ड आफ डायरेक्टर्स सस्पेंड होने के बाद 88.13 करोड़ की रिकवरी पर फोकस शुरू कर दिया गया है। रिकवरी के लिए डीजीएम की निगरानी में बैंक के प्रशासक व असिस्टेंट रजिस्ट्रार कोआपरेटिव सोसायटी अमृतसर भूपिंद्र सिंह वालिया ने रिकवरी और लीगल सेल का गठन किया गया है। इसमें असिस्टेंट मैनेजर रैंक के अधिकारियों लगाया गया है। 237 में से 80 डिफाल्टरों को 15 दिन में पैसे जमा कराने को नोटिस भेज दिए हैं। इसके बाद गिरफ्तारी कही गई है।

प्रेस कांफ्रेंस में वालिया ने कहा कि रिकवरी के लिए बैंक मुलाजिम डिफाल्टरों घरों के बाहर धरने देंगे। इससे पहले वालिया ने बैंक के अधिकारियों के साथ मीटिंग की। उन्होंने माना कि बैंक में अनियमितताओं से बोर्ड आफ डायरेक्टर्स ने लोन बांटे हैं और रिकवरी की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। इसकी वजह से बैंक सालाना 2 करोड़ के घाटे में चला गया है।

ज्यादा स्टाफ पर फैसला सरकार करेगी | वालिया ने बताया कि बैंक में ज्यादा संख्या में स्टाफ भर्ती किया है, उसे निकालना है या फिर उन्हें किसी और जगह पर एडजस्ट किया जाएगा, उसके लिए पालिसी तैयार करके सरकार को भेज दी गई है। उस पर फैसला सरकार करेगी।

चार दिन में डायरेक्टर्स का नहीं आया जवाब | सस्पेंड किए गए बोर्ड आफ डायरेक्टर्स की ओर से चार दिन में कोई जवाब नहीं दिया गया है। हालांकि कई कर्जदारों के ब्याज कम करने आदि के मामले में रजिस्ट्रार ने बैंक से 21 दिन में जवाब मांगा है। वालिया ने कहा कि अभी तक बोर्ड आफ डायरेक्टर्स की ओर से जवाब नहीं आया है, उन्हें समय दिया गया है।