पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महिलाओं को बताए कानून और अधिकार

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

आरआरएमके आर्य महिला काॅलेज के लीगल लिटरेसी क्लब ने डिस्ट्रिक लीगल सर्विसज अथाॅरिटी के सहयोग से नारी सशक्तिकरण के उपलक्ष्य पर प्रिंसिपल डाॅ.सुनीता डोगरा की अध्यक्षता में अवेयरनेस प्रोग्राम करवाया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि सेशन जज कंवलजीत सिंह और प्रबंधक समिति से डाॅ.अरविंद कालरा विशेष रूप से मौजूद रहे। कार्यक्रम का आयोजन सीजेएम कम सेक्रेटरी जतिंद्रपाल सिंह, लीगर लिटरेसी क्लब इंचार्ज डाॅ.नरिंद्र कौर भी मौजूद रहे। सेशन जज कंवलजीत सिंह ने बताया कि भारतीय संविधान के उन कानूनों को जानना जरूरी है, जो उनके लिए बनाए गए हैं, जैसे कि समान वेतन का अधिकार, संपति पर अधिकार, शाम के बाद गिरफ्तार न करने का अधिकार, नाम नहीं उजागर करने का अधिकार, घरेलू हिंसा के खिलाफ आवाज उठाने का अधिकार, मातृत्व लाभ के अधिकार आदि हैं।

काॅलेज प्रबंध समिति के जनरल सेक्रेटरी डाॅ.अरविंद कालरा ने स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि छात्राओं को अपने समर्थ के ऊपर भरोसा होना चाहिए, अगर महिलाएं अपने अधिकारों को जानकर स्वयं खड़ी नहीं होगी तो कोई भी उनका सहारा नहीं बन सकता। सीजेएम जतिंद्रपाल सिंह ने कहा कि छात्राएं आज हर क्षेत्र में आगे आ रही हैं, उन्हें अपने मौलिक अधिकारों के प्रति भी जागरूक होना चाहिए, तभी एक सुढृढ़ समाज की स्थापना संभव है। छात्राओं ने नारी सशक्तिकरण पर नुक्कड़ नाटक भी प्रस्तुत किया। प्रिंसिपल डाॅ.सुनीता डोगरा ने आए हुए अतिथियों को पौधे एवं स्मृति चिंह देकर स्वागत किया। इस मौके पर एडवोकेट प्रांजली, डाॅ.आरती पलटा, डाॅ.रूपिंद्रजीत कौर, काॅलेज एडवाइजर रंजू निझावन एवं समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

खबरें और भी हैं...