नेशनल हेल्थ पॉलिसी 2017 की तर्ज पर फार्मेसी अफसर को भी किया जाए ब्रिज कोर्स में शामिल

Pathankot News - पंजाब स्टेट फार्मेसी ऑफिसर एसोसिएशन के फैसले पर जिला पठानकोट एसोसिएशन कमेटी की कन्वेंशन जिला प्रधान राकेश कुमार...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:41 AM IST
Pathankot News - on the lines of national health policy 2017 pharmacy officers should also be included in the bridge course
पंजाब स्टेट फार्मेसी ऑफिसर एसोसिएशन के फैसले पर जिला पठानकोट एसोसिएशन कमेटी की कन्वेंशन जिला प्रधान राकेश कुमार की अध्यक्षता में डल्हौजी रोड स्थित होटल में हुई। कन्वेंशन का शुभारंभ करते हुए जिला फाइनेंस सेक्रेटरी राजकुमार शर्मा ने जिले से आए फार्मेसी अफसर, सीनियर फार्मेसी अफसर, चीफ फार्मेसी अफसर और स्टेट लीडरशिप का स्वागत किया। इसमें स्टेट प्रधान नरिंद्र मोहन शर्मा, जनरल सेक्रेटरी रविंद्र लुथरा, उप-प्रधान सुनील दत शर्मा, प्रेस सेक्रेटरी बलराज सिंह सैनी ने एसोसिएशन की ओर से की गई उपलब्धियों और प्राप्तियों के बारे में बताया। फार्मासिस्ट के पद और नाम बदलकर फार्मेसी अफसर, सीनियर फार्मेसी अफसर, चीफ फार्मेसी अफसर, जिला फार्मेसी अफसर की रचना करना, 1186 पंचायती डिस्पेंसरियों को फिर से सेहत विभाग के अधीन लाना, राष्ट्रीय स्तर पर डिप्टी डायरेक्टर फार्मेसी अफसर की रचना करना, सेहत विभाग में फार्मेसी एक्ट 1948 लागू करना, नेशनल हेल्थ पॉलिसी 2017 के मुताबिक फार्मेसी अफसर को भी ब्रिज कोर्स में शामिल करना आदि मांगों पर विचार िकया।

जिला प्रधान राकेश कुमार ने कन्वेंशन को सफल बनाने के लिए अपनी जिले की टीम और इसमें भाग लेने वाले फार्मेसी अफसर, सीनियर फार्मेसी अफसर, चीफ फार्मेसी अफसर और स्टेट लीडरशिप के सदस्यों का धन्यावाद किया। इस मौके पर पटियाला से प्रधान अमृत, हरप्रीत सिंह के अतिरिक्त गोपाल शर्मा, रेणु बाला, सुखदेव सैनी, गुरप्रसाद, सुनील कुमार, शशि भूषण, पवन महाजन, निर्मल, रविंद्र महाजन, प्रवीण सैनी, जगमोहन वालिया, जसवीर सिंह, त्रिशला देवी, अनीता शर्मा, ललित महाजन, सर्वजीत कौर, रेणु तलवार, अंकुश महाजन, गौरव महाजन, हिमांशु महाजन, दीपक, दीपाली, रमन, वासु, कमलजीत कौर, राहुल आदि फार्मेसी अफसर मौजूद रहे।जनऔषधि कर्मियो ने पक्का करने और बराबर काम बराबर वेतन देने के लिए ज्ञापन

जनऔषधि में कार्यरत फार्मेसी अफसर अंकुश महाजन, गौरव महाजन और हिमांशु महाजन ने स्टेट से आई लीडरशिप को ज्ञापन दिया। इसमें मांग की कि वह जनऔषधि में पिछले 9 साल से काम कर रहे हैं। उन्हें मात्र 10 हजार रुपए सैलेरी दी जा रही है। उन्होंने मांग रखी की कि उन्हें पक्का करवाया जाए या बराबर काम बराबर वेतन दिलवाया जाए।

पंजाब स्टेट फार्मेसी ऑफिसर एसोसिएशन के फैसले पर जिला पठानकोट एसोसिएशन कमेटी की कन्वेंशन में मौजूद फार्मेसी अफसर, सीनियर फार्मेसी अफसर, चीफ फार्मेसी अफसर और स्टेट लीडरशिप के पदाधिकारी।

X
Pathankot News - on the lines of national health policy 2017 pharmacy officers should also be included in the bridge course
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना