• Hindi News
  • Rajya
  • Punjab
  • Pathankot
  • Pathankot News regulations were banned in seali and anandpur contrary to the rules the tehsildar gave 235 registries in one and a half years

सियाली और आनंदपुर में रजिस्ट्रियां थीं बैन, नियमों के विपरीत तहसीलदार ने डेढ़ साल में कर दीं 235 रजिस्ट्रियां

Pathankot News - सियाली रोड पर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट की टिंबर मार्केट ट्रक स्टैंड 309 एकड़ की अवार्ड की गई स्कीम पहले हाईकोर्ट और बाद में...

Dec 04, 2019, 08:46 AM IST
Pathankot News - regulations were banned in seali and anandpur contrary to the rules the tehsildar gave 235 registries in one and a half years
सियाली रोड पर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट की टिंबर मार्केट ट्रक स्टैंड 309 एकड़ की अवार्ड की गई स्कीम पहले हाईकोर्ट और बाद में पंजाब सरकार के विचाराधीन थी और वहां रजिस्ट्रियां बैन होने के बावजूद पठानकोट के तहसीलदार ने नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए डेढ़ साल में ही 235 रजिस्ट्रियां कर दीं। इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन ने अब राजस्व विभाग के इस घोटाले की जांच करने की मांग उठाई है।

सियाली गांव और आनंदपुर की 309 एकड़ जमीन पर सरकार द्वारा 1971 में टिंबर मार्केट ट्रक स्टैंड स्कीम अवार्ड हुई थी, लेकिन जमीन के कई मालिक कोर्ट चले गए और मामला कोर्ट के विचाराधीन था। इस बीच लंबे अंतराल के कारण कई लोग इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के अधिकारियों से मिलीभगत कर इस एरिया में मकान बनाते गए। मौजूदा समय में पूरे एरिया में पाॅश कालोनी विकसित हो गई है। पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने हाईकोर्ट में बयान दिया कि एरिया में इतने मकान बन चुके हैं कि पुरानी स्कीम को आगे बढ़ाना संभव नहीं है। अब सरकार ने शाहकालोनी नाम से विकसित इस कालोनी को निर्धारित फीस जमा कराकर रेगुलर करने की प्रक्रिया शुरू की है। इसके मुताबिक 3 कैटेगरी में बंटी स्कीम में जिन्होंने मकान या प्लाॅट बनाया है, 51 हजार रुपए, 27 हजार और 7 हजार प्रति मरला इंप्रूवमेंट ट्रस्ट में जमा करवाकर रेगुलर करा सकते हैं। लेकिन, इतना पैसा देकर कोई रेगुलर कराने को तैयार नहीं। इस बीच इस अवार्डेडट एरिया में जमीनों की रजिस्ट्रियों पर बैन के बावजूद राजस्व विभाग ने धड़ाधड़ रजिस्ट्रियां कीं। बताया जा रहा है कि राजस्व विभाग के कुछ अफसरों द्वारा पूरे स्कैंडल में करोड़ों की कमाई की गई। हालांकि इंप्रूवमेंट ट्रस्ट द्वारा तहसीलदार को रजिस्ट्रियों पर बैन लगे होने के कारण रजिस्ट्रियां नहीं करने के लिए बार-बार पत्र लिखे गए और डिप्टी कमिश्नर द्वारा भी आॅर्डर जारी किए गए।


सियाली गांव की ट्रस्ट स्कीम के अधीन आती शाह कालोनी में डेवलप हुई कालोनी। -भास्कर

तहसीलदार ने सरकार को करोड़ों का चूना लगाया



सियाली और आनंदपुर में रजिस्ट्रियों पर बैन होने के बावजूद पठानकोट तहसीलदार द्वारा 1 अप्रैल 2017 से 30 अक्टूबर 2018 के डेढ़ साल के दौरान ही 235 रजिस्ट्रियां की गईं। भास्कर द्वारा तहसीलदार आॅफिस से आरटीआई द्वारा हासिल की गई जानकारी में इसका खुलासा हुआ है। इस बीच ज्यादातर समय परमजीत सिंह गोरायां तहसीलदार रहे, जिनका अब लुधियाना ट्रांसफर हो गया है। गौर हो कि इस बीच इंप्रूवमेंट ट्रस्ट द्वारा स्कीम के तहत आती जमीनों की रजिस्ट्रियां नहीं करने संबंधी बार-बार तहसीलदार को पत्र लिखे गए। पत्र संख्या 1459-1461- 28 मार्च 2018 को लिखे पत्र में तो इसके पहले तहसीलदार को लिखे 20 लेटर्स को हवाला देकर कहा गया है कि ट्रस्ट द्वारा स्कीम के किसी भी रकबे को खरीद-फरोख्त की आपके विभाग, एसडीएम तथा डिप्टी कमिश्नर को समय-समय पर रजिस्ट्रियां बैन करने संबंधी लिखा गया है। डीसी द्वारा भी रजिस्ट्रियां नहीं करने का आदेश आपको जारी किए गए हैं। इसलिए नाजायज रजिस्ट्रियां और निशानदेही रोकी जाए। इसके बाद 29 अक्टूबर 2018 फिर ट्रस्ट के कार्यसाधक अफसर ने तहसीलदार को पत्र लिखा कि सियाली और आनंदपुर स्कीम की जमीनों की रजिस्ट्रियों पर पूर्ण रूप से रोक लगाई जाए। तहसीलदार पर अधिकारियों के आदेशों का कोई असर नहीं हुआ। ट्रस्ट द्वारा अंतिम पत्र 13 मई 2019 को लिखा गया।

Pathankot News - regulations were banned in seali and anandpur contrary to the rules the tehsildar gave 235 registries in one and a half years
X
Pathankot News - regulations were banned in seali and anandpur contrary to the rules the tehsildar gave 235 registries in one and a half years
Pathankot News - regulations were banned in seali and anandpur contrary to the rules the tehsildar gave 235 registries in one and a half years
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना