--Advertisement--

बेटियों काे 8 महीने से नहीं मिल रहा पौष्टिक आहार

केंद्र सरकार ने पंजाब के सहयोग के साथ किशोरियों को सशक्त करने के उद्देश्य से सबला योजना बनाई है। जिले के करीब 3 हजार...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:55 AM IST
केंद्र सरकार ने पंजाब के सहयोग के साथ किशोरियों को सशक्त करने के उद्देश्य से सबला योजना बनाई है। जिले के करीब 3 हजार आंगनबाड़ी केंद्रों काे 8 महीने से इस योजना के तहत मिलने वाल पौष्टिक आहार नहीं मिला। इस वजह से सरकार की यह योजना लोगोंक बनती जा रही है। केंद्र व पंजाब सरकार के सहयोग से पौष्टिक आहार देने की योजना है। योजना के तहत किशोरी काे पंजीरी, दूध, दलिया, चावल जैसी खुराक मिलनी चाहिए, लेकिन अभी नहीं मिल पा रही। योजना को सफल बनाने के लिए केंद्र सरकार आंगनबाड़ी केंद्रों, वर्कर्स और आहार के लिए 50 फीसदी हिस्सा करोड़ों रुपए का फंड पंजाब सरकार को भेजती है, जबकि 50 फीसदी पंजाब सरकार को खुद खर्च करना होता है। जिम्मेदार जिला प्रोग्राम अफसर सुखदीप सिंह का कहना है कि किशोरियों काे पौष्टिक आहार मिलने में जरूर देरी हुई है, इस देरी का कारण समय रहते एलोकेशन न होना समझा जा सकता है। अब सभी जरूरी कार्रवाई पूरी हो चुकी है। अगले सप्ताह तक सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में सामग्री भेज दी जाएगी।

जिले के 3 हजार केंद्रों में मिलता है दूध, दलिया व पंजीरी

इस योजना का मकसद बेटियों को सपोर्ट करना

सबला योजना के तहत किशोरियों काे आंगनबाड़ी केंद्रों में प्रशिक्षण एवं जागरूकता को बढ़ावा दिया जाता है। किशोरियों को आयरन और प्रोटीन की गोलियां और अन्य आवश्यक पोषक तत्व दूध, दलिया, पंजीरी देने की योजना है।

X

Recommended

Click to listen..