सीबीएसई ने11वीं के छात्रों की 75% अटेंडेंस जरूरी की

Patiala News - कई स्कूलाें में बढ़ रहे डम्मी एडमिशन के रुझान पर नकेल कसने के लिए सैंट्रल बाेर्ड अाॅफ सेकंडरी एजुकेशन इस बार सख्ती...

Nov 10, 2019, 08:35 AM IST
कई स्कूलाें में बढ़ रहे डम्मी एडमिशन के रुझान पर नकेल कसने के लिए सैंट्रल बाेर्ड अाॅफ सेकंडरी एजुकेशन इस बार सख्ती बरतने के मूड में है। यही वजह है कि बाेर्ड ने 11वीं में दाखिले के लिए पहले से बनाए नियमाें में बदलाव किया है। इस कड़ी में बाेर्ड ने सभी स्कूलाें काे निर्देश दिए हैं कि 11वीं क्लास की हाजिरी 75 परसैंट तक करना यकीनी बनाया जाए। यही नही, अगर काेई स्कूल एेसा नहीं करते हैं ताे उनके खिलाफ सख्त कदम भी उठाए जा सकते हैं।

दरअसल अक्सर 11वीं में दाखिला लेने वाले स्टूडेंट्स, मेडिकल अाैर इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी के चलते स्कूल नहीं जाते अाैर काेचिंग इंस्टीच्यूट्स या ट्यूशनाें पर जाने काे पहल देते हैं। एेसे में स्कूलाें में उनकी साल भर की माैजूदगी 75 प्रतिशत से भी कम हाेती है। बाेर्ड के नियमाें पर नजर दाैडाएं ताे छात्र-छात्राअाें काे परीक्षा में बैठने के लिए उनकी 75 प्रतिशत हाजिरी स्कूलाें में हाेना जरूरी है लेकिन बाेर्ड के पास पहुंच रही शिकायताें के मुताबिक लंबे समय से इस नियम की अनदेखी हाे रही है। इसकी वजह से अब बाेर्ड ने छात्र-छात्राअाें के साथ स्कूलाें काे भी सख्त हिदायत दी है कि अगर स्टूडेंटस की माैजूदगी 75 प्रतिशत से कम पाई जाती है ताे एेसे स्कूलाें के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डीएवी पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल विवेक तिवाड़ी ने कहा कि बाेर्ड का ये फैसला डम्मी एडमिशन राेकने के लिए कारगर साबित हाेगा। जाे स्कूल मनमर्जी करके स्कूल में बच्चाें का दाखिला कर लेते हैं जबकि बच्चे किसी अन्य जगह भी हाजिर हाेते हैं। एेसे बच्चाें काे स्कूल में माैजूद हाेना जरुरी हाेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना