• Hindi News
  • Punjab
  • Patiala
  • Samana News central government is not keen to seek advice for defense strategy china drones and robots prepare to fight war
--Advertisement--

केंद्र सरकार रक्षा रणनीति के लिए सलाह लेने की भी इच्छुक नहीं, चीन ड्रोन और रोबोट से जंग लड़ने की कर रहा तैयारी

Patiala News - भूतपूर्व सैनिकों और रक्षा माहिरों ने शनिवार को देश की रक्षा रणनीति तैयार करने में उनके सुझाव न लेने संबंधी केंद्र...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:45 AM IST
Samana News - central government is not keen to seek advice for defense strategy china drones and robots prepare to fight war
भूतपूर्व सैनिकों और रक्षा माहिरों ने शनिवार को देश की रक्षा रणनीति तैयार करने में उनके सुझाव न लेने संबंधी केंद्र सरकार की अनिच्छा को निंदनीय बताया। उन्होंने दीर्घकालिक संघर्ष और रक्षा योजना के लिए चिंतन की मांग की। चंडीगढ़ में आयोजित मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल-2018 के दूसरे दिन ‘इवॉल्विंग चैलेंजिस इन इंडियन आर्मी’ विषय पर आयोजित सेशन में उन्होंने फैसला लेने वालों को इस बात पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा कि अर्थव्यवस्था के प्रसार के साथ हथियारबंद फौजों के लिए फंडों की कमी न हो। पूर्व आर्मी चीफ जनरल वीपी मलिक इस सेशन के संचालक थे जबकि लेफ्टिनेंट जनरल (रिटा.) केजे सिंह, कर्नल (रिटा.) पीके वासुदेवा, लेफ्टिनेंट जनरल (रिटा.) आदित्य सिंह, सीनियर पत्रकार दिनेश कुमार और विष्णु सोम पैनल में मौजूद थे।

चीन बड़ा खतरा
विष्णु सोम ने कहा कि चीन की ड्रोन और हवाई जंगी प्रौद्योगिकी दुनिया की बेहतरीन प्रौद्योगिकी है। चीन की तरफ से स्टील्थ तकनीक वाले हथियारबंद ड्रोन विकसित किए जा रहे हैं। कई आधुनिक उपकरण जिनको चीन की पाक को सौंप दे तो भारत के लिए खतरा हो सकता है। लेफ्टिनेंट जनरल (रिटा.) आदित्य सिंह ने कहा कि चीन ड्रोनों में चेहरा पहचानने की तकनीक विकसित कर रहा है। भविष्य की लड़ाइयां हाइपरसोनिक लड़ाकू जहाजों, ड्रोनों और रोबोटों द्वारा लड़ी जाएंगी।

फौज की कीमत पर बुलेट ट्रेनों और मूर्तियों पर करोड़ों खर्च रही सरकार... कर्नल (रिटा.) पीके वासुदेवा ने प्रश्न किया कि क्या भारत अपने सशस्त्र बलों पर चीन के मुकाबले पर्याप्त खर्चा कर रहा है। ‘मैं कह सकता हूं कि हम हालात का सामना 1971 या 1965 की तरह नहीं कर सकेंगे। सेना जम्मू-कश्मीर और उत्तर-पूर्व में आतंकवाद विरोधी अभियान चला रही है। हमारे जवान उपकरणों, छोटे हथियारों और असले की कमी के कारण बड़ी संख्या में शहीद हो रहे हैं। छोटा-सा देश इजरायल 17 दुश्मन देशों से घिरा है फिर भी सभी उससे डरते हंै।’ भारत सरकार मूर्तियों और बुलेट ट्रेनों पर करोड़ों खर्च कर रही है परंतु रक्षा बजट को अनदेखा कर रही है।

कारगिल जंग से पहले खुफिया सूचना दे दी गई थी: एएस दुल्लट...खुफिया एजेंसी रॉ के पूर्व प्रमुख एएस दुल्लट ने कहा कि कारगिल जंग से पहले ही चोटियों में घुसपैठ की खुफिया रिपोर्ट केंद्र को सौंप दी गई थी। लेफ्टिनेंट जनरल कमल दावर ने दक्षिण एशियन भाषाओं जैसे मैंडेरिन, सिंहालीस और पशतो में काबलियत हासिल करने और ज्यादा कार्य करने की जरूरत पर जोर दिया।

सैनिकों पर फिल्मों में प्रमाणिकता बनाए रखने पर जोर...पैनेलिस्ट ने हकीकत, बॉर्डर, लक्ष्य और हाल ही में रिलीज पल्टन जैसी फिल्मों के निर्माण पर बॉलीवुड की सराहना की। साथ ये भी कहा कि बाॅलीवुड फिल्में संवेदनाओं के साथ खिलवाड़ करती हंै जबकि पश्चिमी सिनेमा प्रमाणिकता बनाए रखता है। सैनिकों पर बनी फिल्मों में प्रमाणिकता बनाए रखना चाहिए।

X
Samana News - central government is not keen to seek advice for defense strategy china drones and robots prepare to fight war
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..