10 दिन पहले क्रैश हुआ था प्लेन, समाना के मोहित समेत 13 वायुसैनिकों की मौत

Patiala News - अरुणाचल में 10 दिन पहले लापता हुए वायुसेना के एएन-32 विमान में सवार 13 वायुसैनिकों में से काेई जिंदा नहीं बचा।...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:40 AM IST
Patiala News - crashing 10 days ago plane 13 warriors killed including samana39s fascination
अरुणाचल में 10 दिन पहले लापता हुए वायुसेना के एएन-32 विमान में सवार 13 वायुसैनिकों में से काेई जिंदा नहीं बचा। दुर्घटनास्थल पर हेलीकाॅप्टर से उतारे गए बचाव दल ने वीरवार को विमान के मलबे और आसपास के इलाके में काफी खोजबीन की। लेकिन कोई व्यक्ति जीवित नहीं मिला। वायुसेना के अनुसार इन सभी 13 वायुसैनिकों के शव और विमान का ब्लैक बाक्स मिल चुका है। यह खबर मिलने के बाद समाना में शोक की लहर दौड़ गई। समाना के फ्लाइंग लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग भी इस प्लेन में थे। उनकी तलाश में पिता सुरिंदर गर्ग अगौर चाचा ऋषिपाल 10 दिन से अरुणाचल में हैं। शुक्रवार शाम या शनिवार सुबह तक मोहित का पार्थिव शरीर समाना लाया जाएगा। वहीं, वायुसेना ने सभी 13 जांबाजों को श्रद्धांजलि दी है। 3 जून को असम के जोरहाट से उड़ान भरने के बाद यह विमान लापता हा़े गया था। 8 दिन बाद गत मंगलवार को इसका मलबा अरुणाचल के पश्चिमी सियांग जिले से 16 किलोमीटर दूर मिला था। प्लेन में दो जवान हरियाणा के भी थे।

बीमार मां को नहीं बताया मोहित की माैत के बारे में

समाना | 3 जून से लापता प्लेन में समाना के फ्लाइंग लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग भी थे। खबर आते ही समाना शोक में डूब गया। पिता सुरिंदर गर्ग और चाचा ऋषिपाल गर्ग 10 दिन से अरुणाचल में हैं। अरुणाचल में बैंक में नौकरी के चलते मोहित की प|ी आस्था वहीं पर हैं। पिता सुरिंदर गर्ग ने फोन पर कहा कि वीरवार को प्लेन क्रैश होने की पुष्टि हुई और सभी की मौत की सूचना दी गई। इसके बाद से परिवार सदमें में है। अभी तक बेटे की मौत की खबर मोहित की बीमार मां को नहीं बताई गई है। वहीं, घर में अभी मोहित के छोटे भाई और मां ही मौजूद हैं। मोहित के छोटे भाई ने अपनी मां को सिर्फ यही बताया है कि शायद मोहित का एक्सीडेंट हो गया है। परिवार की यह कोशिश है कि मां को वीरवार सुबह तक मोहित के बारे बताया जाए। सुबह 6 बजे तक मोहित के पिता और चाचा समाना पहुंच जाएंगे।

विमान में 7 अधिकारी और 7 वायुसैनिक थे, जिसमें हरियाणा के 2 जवान

वायुसेना के मालवाहक विमान एएन-32 में 6 अधिकारी और 7 वायुसैनिक थे। हादसे में जान गंवाने वालाें में विंग कमांडर जीएम चार्ल्स, स्क्वाड्रन लीडर एच विनोद, फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग, अार. थापा, हरियाणा के पलवल के आशीष तंवर और एस. मोहंती, वारंट अफसर केके मिश्रा, सार्जेंट अनूप कुमार, कॉर्पोरल शेरिन, लीड एयरक्राफ्ट मैन एसके सिंह और सोनीपत के पंकज सांगवान के अलावा कर्मचारी पुतली और राजेश कुमार भी शामिल हैं।

काफी हाेनहार थे, प्रमोशन होने वाली थी मोहित की...

फ्लाइंग लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग को बचपन से ही पढ़ने का शौक था। 12वीं के बाद ही उनका चयन एनडीए में हो गया। मोहित ने पायलट के तौर पर जॉइन किया और फ्लाइंग लेफ्टिनेंट बने। सीनियर अधिकारियों ने बताया कि मोहित बहुत होनहार अफसर रहा। उसमें हर संकट की घड़ी से निपटने का आत्म विश्वास था। उसके टेलेंट को देखते हुए मोहित की प्रमोशन होने वाली थी और उसे चार इंजनों वाला एयर क्राफ्ट मिकने वाला था।

X
Patiala News - crashing 10 days ago plane 13 warriors killed including samana39s fascination
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना