पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Patiala News Do Not Let Minor Children Do The Car Bike Checking From Today If Caught The License Of The Parents Will Be Seized

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नाबालिग बच्चों को न दें कार-बाइक, आज से होगी चेकिंग, पकड़े गए तो पेरेंट्स का लाइसेंस होगा जब्त

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अगर आपका बच्चा 18 साल से कम उम्र का है। स्कूल जाते समय बाइक या कार लेकर जाने की जिद करता है। ऐसा करने वाले बच्चे और उनके पेरेंट्स अलर्ट हो जाएं।

जिला प्रशासन ने वीरवार को सड़क सुरक्षा कमेटी की तिमाही मीटिंग में फैसला किया कि ट्रैफिक पुलिस शुक्रवार से स्कूलों के पास नाके लगाएगी। वहां पर ट्रैफिक पुलिस अधिकारी और मुलाजिम खड़े होंगे। बाइक, मोपेड या कार लेकर आने वाले छात्र-छात्राओं से उनका लाइसेंस मांगेंगे। बगैर लाइसेंस वाले बच्चों के पेरेंट्स को फोनकर मौके पर स्कूल बुलाया जाएगा। चालान करने के अलावा उन्हें साफ शब्दों में निर्देश दिया जाएगा कि वह बच्चों को बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने की अनुमति न दें। ऐसा करते पकड़े जाने पर उनका (पेरेंट्स ्स) का लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा। मीटिंग में बताया गया कि नाबालिग बच्चे हाईस्पीड गाड़ियों में घूम रहे है। यह बच्चों की नहीं पेरेंट की लापरवाही है। बच्चे का लाइसेंस न बन जाए, तब तक उन्हें गाड़ी नहीं दी जानी चाहिए। इस लापरवाही में जितने जिम्मेदार पेरेंट्स हैं उतनी जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन की बनती है। स्कूल यह सुनिश्चित करें कि बिना लाइसेंस या दस्तावेज वाले छात्रों को गाड़ी लेकर न आने दे। पेंरेंट्स को मना करें और छात्रों को ट्रैफिक नियमों के बारे में बताएं।

स्कूलों को आदेश : स्पोर्ट्स या पीटी टीचर को ट्रैफिक ट्रेनिंग के लिए नियुक्त करें
मीटिंग में स्कूल प्रबंधकों को निर्देश दिया गया है कि सप्ताह में एक दिन बच्चों को ट्रैफिक की जानकारी देें। स्पोर्ट्स या पीटी टीचर को ट्रैफिक की ट्रेनिंग के लिए नियुक्त करें, जो बच्चों को नियमों की जानकारी दें। सप्ताह में एक दिन ट्रैफिक का पीरियड बनाएं, जिससे बच्चों में ट्रैफिक के प्रति जागरुकता आएगी। बच्चों को ट्रैफिक नियम से लेकर ट्रैफिक साइन के बारे में बताया जाए। गाड़ी चलाते समय क्या-क्या सावधानी रखनी चाहिए? इससे बच्चे खुद को ट्रैफिक का पालन करेंगे। प्रिंसिपलों को चिट्‌ठी जारी करके कहा गया है कि वह ट्रैफिक अवेयरनेस के लिए स्कूलों में कैंप लगाएं। स्कूलों के बाहर स्टूडेंट्स के व्हीकल्स पार्क करने पर भी तुरंत रोक लगे, जिससे सड़कों पर ट्रैफिक की समस्या न बने।

दो महीने में 36 चालान
शहर में नाबालिग बच्चों के व्हीकल चलाने के इस साल जनवरी और फरवरी में कुल 36 चालान कटे है। कई सीनियर सेकेंडरी स्कूल हैं (सरकारी और प्राइवेट दोनों) जहां स्कूली बच्चे लाइसेंस न होने के बावजूद टू व्हीलर्स लेकर आते हैं। बच्चो की रैश ड्राइविंग कई बार हादसों का कारण बनती है।

अब अभियान चलेगा
कम उम्र के बच्चों के हाथ में गाड़ी थमाना चिंताजनक है। कई बार देखा गया है कि इन बच्चों को ट्रैफिक रूल्स के बारे में सही जानकारी नहीं होती है, न ही हेलमेट का प्रयोग करते हैं। स्कूलों से संपर्क किया जाएगा। अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी। -करनैल सिंह, इंचार्ज ट्रैफिक पुलिस।

कमेटी की मीटिंग के बड़े फैसले
सभी विभाग इन आदेशों को लागू करके अपनी अपनी रिपोर्ट 15 दिनों के अंदर-अंदर जिला प्रशासन को सौंपेंगे।

नगर निगम बंद ट्रैफिक लाइट्स को तुरंत दोबारा चालू कराएगा।

शहर के सार्वजनिक स्थलों (ओवरब्रिज, सड़क, ट्रैफिक पोल, सरकारी दफ्तरों की दीवार और चौक- चौराहे) पर इश्तिहार लगाने वालों के खिलाफ नगर निगम तुरंत कानूनी कार्रवाई करे।

नगर निगम सड़कों पर स्पीड ब्रेकर बताने वाले बोर्ड लगाए।

ट्रैफिक समस्या से निपटने के लिए बनी 3 मेबरीय कमेटी इन सभी मसलों पर रिपोर्ट लेगी और शहर के अलग-अलग बाजारों में जाकर ट्रैफिक समस्या का भी हल तलाशेगी।

इंडस्ट्रियल एसोसिएशन से एचपीएस लांबा ने सरहिंद रोड बाईपास और फोकल प्वाइंट में ट्रैफिक लाइटें लगाने की मांग रखी, जिस पर एडीसी ने तुरंत संबंधित विभागों को निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं।

मोटर व्हीकल एक्ट का है उल्लंघन...मोटर व्हीकल एक्ट के तहत 18 वर्ष से कम उम्र की आयु में गियर वाली गाड़ी चलाने का लाइसेंस जारी नहीं किया जाता है। 16 से 18 वर्ष की आयु में सिर्फ बिना गियर की 50 सीसी तक की क्षमता तक की गाड़ी का ड्राइविंग लाइसेंस दिया जाता है। ज्यादातर अभिभावकों को परवाह नहीं है। वह वगैर वैध लाइसेंस दिलाए बच्चों को गाड़ी थमा रहे हैं। स्कूल जाने वाले काफी संख्या में बच्चे तो 16 साल से कम उम्र के हैं, जिन्हें लाइसेंस जारी भी नहीं किया जा सकता।

Rs.1200 जुर्माना...एमवी एक्ट के तहत बिना लाइसेंस के वाहन चलाते पकड़े जाने पर 1,200 रुपये के जुर्माने का प्राविधान है। जुर्माना उन छात्रों पर लागू होता है, जिनके पास वैध लाइसेंस नहीं है। यानी, बिना गियर की गाड़ी के लाइसेंस पर गियर वाली गाड़ी चला रहे हैं।

बीमा लाभ नहीं...बिना लाइसेंस के आपका बच्चा वाहन चल रहा है। दुर्भाग्य से दुर्घटना में किसी तीसरे व्यक्ति की मौत हो जाती है तो वाहन का बीमा होने के बाद भी कंपनी इस आधार पर थर्ड पार्टी क्लेम देने से इनकार कर सकती है कि संबंधित चालक के पास उपयुक्त ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था।

Rs.1200 जुर्माना...एमवी एक्ट के तहत बिना लाइसेंस के वाहन चलाते पकड़े जाने पर 1,200 रुपये के जुर्माने का प्राविधान है। जुर्माना उन छात्रों पर लागू होता है, जिनके पास वैध लाइसेंस नहीं है। यानी, बिना गियर की गाड़ी के लाइसेंस पर गियर वाली गाड़ी चला रहे हैं।

बीमा लाभ नहीं...बिना लाइसेंस के आपका बच्चा वाहन चल रहा है। दुर्भाग्य से दुर्घटना में किसी तीसरे व्यक्ति की मौत हो जाती है तो वाहन का बीमा होने के बाद भी कंपनी इस आधार पर थर्ड पार्टी क्लेम देने से इनकार कर सकती है कि संबंधित चालक के पास उपयुक्त ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें