‘दिवाली’ के नाम पर सरकारी कर्मी मांगते ‘सेवा’...अधिकारियों से करेंगे शिकायत

Patiala News - मंदी की मार झेल रहे दुकानदारों पर फेस्टिवल सीजन इस बार सरकारी विभाग के मुलाजिमों को दिवाली न देने का फैसला किया...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:16 AM IST
Patiala News - in the name of 39diwali39 government workers will demand 39seva39 complaint to officials
मंदी की मार झेल रहे दुकानदारों पर फेस्टिवल सीजन इस बार सरकारी विभाग के मुलाजिमों को दिवाली न देने का फैसला किया है। यह फैसला शनिवार को पंजाब प्रदेश व्यापार मंडल के प्रधान राकेश गुप्ता के साथ मीटिंग में लिया गया। दुकानदारों का मानना है कि वह लोग पहले से ही नोटबंदी और जीएसटी की मार से बाहर नहीं निकल रहे हैं। मौजूदा समय में मंदी का दौर चल रहा है। दिवाली के समय सरकारी विभाग के मुलाजिम या सेवादार पैसे मांगने आ जाते हैं। प्रधान के मुताबिक जिले में करीब 20 हजार व्यापारी हैं। यहां सतप्रकाश भराद्धाज, राजन जैन, नरेश सिंगला, सुखमजीत अहुजा, सुखपाल धीमान, राजकुमार बजाज, राजेश गुप्ता, अशोक शर्मा, नरेन्द्र सहगल, मोहन लाल मौजूद थे।

कहा- व्यापार मंडल को दें ऐसे कर्मचारियों की सूचना

मीटिंग के दौरान प्रधान राकेश गुप्ता ने व्यापार मंडल की अाेर से सभी व्यापारियों से अपील की है कि किसी भी तरह के मुलाजिम को दिवाली के बहाने मजबूर होकर या डर कर पैसा देने की जरूरत नहीं है। अगर कोई मुलाजिम किसी व्यापारी से जबरदस्ती करता है या डराता धमकाता है तो वह व्यापार मंडल से संपर्क कर सकता है। जिस डिपार्टमेंट से मुलाजिम आता है तो उसी डिपार्टमेंट के अधिकारी से शिकायत की जाएगी।

डिपार्टमेंट के नाम पर फर्जी लोग मांगते रुपए

व्यापारियों के मुताबिक फेस्टिवल सीजन में कई बार ऐसे लोग भी दिवाली का गिफ्ट और रुपए मांगने पहुंचते जो सरकारी डिपार्टमेंट के कमर्चारी तक नहीं होते। कई बार तो डिपार्टमेंट के ही मुलाजिम पहुंच जाते है। इसलिए मंदी को देखते हुए व्यापारियों ने दिवाली गिफ्ट न देने का फैसला किया है।

मेड इन इंडिया माल बेचें|मीटिंग में फैसला हुआ कि व्यापारी भी अपने व्यापार के प्रति सही होने चाहिए। व्यापारी को चाहिए वह अपने ग्राहकों को अच्छी सेवा दें और सही माल और मेड इन इंडिया बेचें।

...इधर, पटाखा मार्केट के लिए आवेदन शुरू

दीवाली पास अाते ही प्रशासन से अनुमति लेने के लिए पटाखा व्यापारियाें के आवेदन शुरू हो चुके है। जिला प्रशासन अब इन आवेदनों को लेकर जल्द ही मीटिंग करेगा। जिसमें यह तय करेगा कि पटाखा मार्केट लगाने के लिए कहां पर जगह दी जाए। रिहायशी इलाके में पाटाख मार्केट लगाने का िवरोध भी शुरू हो गया है। अनारदाना शॉपकीपर एसोसिएशन के प्रधान डॉ. भाई परमजीत सिंह ने कहा कि प्रशासन को पटाखा मार्केट के लिए दी जाने वाली जगह रिहायसी इलाके के बजाए बाहरी इलाकों में दी जानी चाहिए। अगर प्रशासन अनारदाना चौक के पास पटाखा मार्केट के लिए जगह देता है तो एसोसिएशन के मेंबर फैसले का विरोध करेंगे।

X
Patiala News - in the name of 39diwali39 government workers will demand 39seva39 complaint to officials
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना