कर्म ही मनुष्य के सुख, दुख और भय का कारण है : साध्वी भारती

Patiala News - अनाज मंडी घनौर में नौजवान सभा घनौर की ओर से आयोजित हुई सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा की पंचम आस्थायिका में...

Feb 15, 2020, 07:21 AM IST
Patiala News - karma is the cause of human happiness sorrow and fear sadhvi bharti

अनाज मंडी घनौर में नौजवान सभा घनौर की ओर से आयोजित हुई सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा की पंचम आस्थायिका में धर्मपाल सिंगला व बलदेव कृष्ण शर्मा ने परिवारों सहित प्रभु का पूजन कर कथा का शुभारंभ करवाया। दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान साध्वी भाग्य भारती ने गोवर्धन लीला के रहस्य को प्रस्तुत किया।

उन्होंने कहा कि नंद बाबा और गांव की ओर से इंद्रयज्ञ की तैयारियां चलते देख भगवान श्री कृष्ण उनसे प्रश्न पूछते हंै। उनको गोवर्धन पर्वत तथा धरती का पूजन करने हेतु उत्साहित करते हैं। प्रभु का भाव यह था जो धरती वनस्पति जल के द्वारा हमारा पोषण कर रही है। उसकी वंदना एवं पूजा करनी चाहिए। धरती का प्रतीक मानकर गोवर्धन पर्वत की पूजा की गई। छप्पन व्यंजनों का भोग भगवान को दिया गया। इन्द्र के अभिमान को ठेस लगी तो उसने सात दिन तक मूसलाधार बारिश के द्वारा गोकुल के लोगों को प्रताड़ित करने का प्रयास किया परन्तु भगवान ने अपनी कनिष्ठिका के ऊपर गोवर्धन धारण कर सभी की रक्षा की। यदि आप भागवत महापुराण का अध्ययन करें तो ज्ञान होगा कि प्रभु ने नंदबाबा सहित ग्राम निवासियों को कर्म के सिद्धांत का विवेचनात्मक विवेचन किया। कर्म ही मनुष्य के सुख, दुख, भय, क्षेम का कारण है। अपने कर्मानुसार मानव जन्म लेता है और मृत्यु को प्राप्त होता है। कर्म ही ईश्वर है। हम सभी नारायण के अंश हैं। हम कर्म को यश प्राप्ति के लिए नहीं करते। हम कर्म की उपासना करते हैं। कर्म ही हमारी पूजा है।

उन्होंने कहा कि यदि एक पूर्ण गुरु का सान्निध्य प्राप्त हो जाए तो वो घट में ही स्थित प्रभु का दर्शन करवाते हैं। साथ ही साथ श्वासों में चल रहे हरि के शाश्वत नाम को भी प्रकट करते हैं। वहीं, साध्वी शुभानंदा भारती, साध्वी पूण्या भारती, साध्वी ऋचा भारती, साध्वी ममतामई भारती, साध्वी इशदीपा भारती, साध्वी आहूति भारती, साध्वी मनू भारती, साध्वी करालिका भारती व साध्वी योगिनी भारती ने श्री कृष्ण भजनों के मधुर का गायन किया एवं अंत में प्रभु की पावन आरती हुई। इस माैके विकास शर्मा, लवली गोयल, व्रजभूषण, मदन लाल, भूषन चंद, राम कुमार, धर्मपाल वर्मा, नरेश कुमार सिंगला, गौतम सूद, सुभाष शर्मा, दीपक राज, यादविन्द्र शर्मा, राज कुमार सिंगला, धर्मपाल सिंगला, महंत अरुण, कृष्ण कुमार माैजूद रहे।

कथा करतीं साध्वी भारती।

X
Patiala News - karma is the cause of human happiness sorrow and fear sadhvi bharti

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना