Hindi News »Punjab »Patiala» झगड़े के केस में धारा-326 जोड़ने के लिए 25 हजार रिश्वत लेता हवलदार गिरफ्तार

झगड़े के केस में धारा-326 जोड़ने के लिए 25 हजार रिश्वत लेता हवलदार गिरफ्तार

सरकारी राजिंदरा अस्पताल से विजिलेंस ने हवलदार बलजिंदर सिंह काे 25 हजार रुपए रिश्वत लेते काबू किया है। उसके साथी...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 02:55 AM IST

सरकारी राजिंदरा अस्पताल से विजिलेंस ने हवलदार बलजिंदर सिंह काे 25 हजार रुपए रिश्वत लेते काबू किया है। उसके साथी मेडिकल कॉलेज के फारेंसिक डिपार्टमेंट के जूनियर डाॅ. चरण कमल के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोपी झगड़े के केस में गंभीर 326 जैसी धारा काे जोड़ने माेटी रिश्वत लेता था। उधर, फॉरेंसिक डिपार्टमेंट हेड डाॅ. केके अग्रवाल ने कहा कि वैसे ताे मेरा डॉक्टर एेसा कर नहीं सकता, लेकिन यदि ऐसा है तो कार्रवाई होगी।

एक धारा जोड़ने के मांगे थे 50 हजार, 30 में था सौदा

गांव कल्लरभैणी वासी मदन सिंह पुत्र राम प्रताप का पिछले दिनाें गांव के ही रहने वाले गुरजंट सिंह के साथ झगड़ा हाे गया था। जिस के बाद दाेनाें पार्टियों के खिलाफ क्रास केस थाना पसियाना में हुअा था। आरेापियों ने मदन सिंह के खिलाफ धारा 326 जोड़ने के एवज में 50 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की, लेकिन साैदा 30 हजार रुपए में तय हुअा। शिकायतकर्ता ने इसकी शिकायत विजिलेंस काे दी। जिसके बाद विजिलेंस ने ट्रेप लगाकर डकाला चाैकी में तैनात हवलदार बलजिंदर सिंह काे 25 हजार रुपए रिश्वत लेते हुए इंस्पेक्टर प्रितपाल सिंह ने विजिलेंस टीम समेत रंगे हाथ काबू किया। गाैर हाे कि अाराेपी हवलदार बलजिंदर सिंह ने डॉक्टर चरन कमल जूनियर रेजिडेंट, फॉरेंसिक मेडिसिन एक्सपर्ट- मेडिकल कॉलेज पटियाला के साथ पहले ही रिश्वत के 15 हजार देने की बात पक्की हाे रखी थीं ।

यह रहे माैजूद- कार्रवाई में सरकारी गवाह हरीश कुमार, सीनियर सहायक सिविल सर्जन दफ्तर, जगमीत सिंह, एसडीअाे, लाेक निर्माण विभाग, एएसअार्इ पवित्र सिंह, हरमीत सिंह, कारज सिंह, अमरजीत सिंह व मंदीप सिंह माैजूद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patiala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×