• Hindi News
  • Rajya
  • Punjab
  • Patiala
  • Patiala News march at the campus slogan outside the vc office 100 teachers approved the authority to contest the election sought from the authority

कैंपस में निकाला मार्च, वीसी दफ्तर के बाहर नारेबाजी 100 टीचरों ने अथॉरिटी से मांगी चुनाव लड़ने की मंजूरी

Patiala News - लोकसभा चुनाव में ड्यूटी लगाए जाने के विरोध में पंजाबी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर्स ने वीसी अॉफिस के बाहर धरना दिया।...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:20 AM IST
Patiala News - march at the campus slogan outside the vc office 100 teachers approved the authority to contest the election sought from the authority
लोकसभा चुनाव में ड्यूटी लगाए जाने के विरोध में पंजाबी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर्स ने वीसी अॉफिस के बाहर धरना दिया। उन्हाेंने क्लासों का बायकाॅट कर दिया। प्रोफेसरों ने अथॉरिटी के खिलाफ नारेबाजी की। विरोध में 100 से अधिक प्रोफेसरों ने अथॉरिटी से चुनाव लड़ने की मंजूरी के लिए आवेदन भी कर दिया है। धरने में पीयू प्रोफेसर और आप बुद्धिजीवी विंग प्रधान डॉ. भीमइंदर सिंह शामिल हुए। प्रोफेसर्स के तेवर को देखते हुए वीसी ने मीटिंग बुलाई। उन्होंने कहा कि वह ड्यूटी को लेकर राज्य चुनाव आयोग और उच्च अधिकारियों से बात करेंगे।

टीचरों ने 2 बजे धरना खत्म कर फैसला किया कि 21 जुलाई को होने वाले रिहर्सल में शामिल होना है या नहीं, इस पर 18 अप्रैल को फैसला लेंगे। इससे पले टीचरों ने सुबह 10 बजे अथॉरिटी के खिलाफ नारेबाजी कर कैंपस में मार्च निकाला। वीसी अॉफिस के बाहर नेताओं ने अथॉरिटी को प्रोफेसरों के चुनाव ड्यूटी लगने पर जिम्मेदार ठहराया। टीचरों ने मांग की है कि यूनिवर्सिटी को शिक्षकों को चुनाव ड्यूटी से मुक्त करना चाहिए। वीसी ने कहा कि वह कैलेंडर को चेक करवाएंगे।

अथॉरिटी जिला प्रशासन के बीच तालमेल करने में नाकाम

वीसी अॉफिस के बाहर पंजाबी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर्स।

टीचरों के संवैधानिक राइटट्स का उल्लंघन है

प्रोफेसरों ने तर्क दिया कि विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सरकारी कर्मचारियों से अलग हैं। यूनिवर्सिटी खुद अटॉनमस बॉडी है जिसकी वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट की कोई व्यवस्था नहीं है ताकि शिक्षक राजनीतिक स्वायत्तता ले सकें। शिक्षकों को चुनावी ड्यूटी पर रखना विश्वविद्यालय कैलेंडर में प्रदान किए राजनीतिक, संवैधानिक जनादेश का उल्लंघन है।

धरने में ये प्रोफेसर रहे मौजूद

डॉ. रन सिंह धालीवाल, डॉ. गुरनाम विर्क, डॉ. राजिंदर पाल सिंह, डॉ. जसविंदर सिंह बराड़, डॉ. इंदरजीत सिंह चहल, डॉ. जसविंदर सिंह टूर, रजनी, डॉ. राजिंदर सिंह चंदेल, डॉ. मोहम्मद इदरीश, डॉ. भूपिंदर विर्क, डॉ. हरप्रीत कौर, डॉ. जसविंदर सिंह, डॉ. पूनम पटियार, डॉ. भीमिंदर सिंह, डॉ. सरवजिंदर सिंह बराड़, डॉ. गुजंट सिंह, डॉ. चरनजीव सिंह, डॉ. बलराज सिंह, डॉ. राजविंदर सिंह ढीढसा, डॉ. सिकंदर सिंह चीमा, डॉ. हरीश, डॉ. लखवीर सिंह, डॉ. राजदीप सिंह, डॉ. अनवर चिराग मौजूद रहे।

टीचरों ने आरोप लगाया कि अथॉरिटी चुनाव में ड्यूटी को लेकर जिला प्रशासन के साथ तालमेल नहीं बिठा सका। चाहिए था कि वह जिला प्रशासन से बात कर टीचरों को ड्यूटी में न लगाने के लिए कह सकता था। इस पर उन्होंने अथॉरिी की निंदा की। अब तक यह मामले रजिस्ट्रार कार्यालय यह मामले अपने लेवल पर निपटाती थी।

हड़ताल से स्टूडेंट्स का सिलेबस भी फंसा

वहीं टीचरों की हड़ताल के चलते स्टूडेंट्स का सिलेबस फंसा हुआ है। क्योंकि इस बार 20 अप्रैल तक सिलेबस खत्म करना है। वहीं एग्जाम भी 1 मई से है, जबकि इस बार एग्जाम तय समय से 5 दिन पहले शुरू हो रहे है। ऐसे में अब हड़ताल चल रही जिसके चलते स्टूडेंट्स के सिलेबस पर संकट है।

X
Patiala News - march at the campus slogan outside the vc office 100 teachers approved the authority to contest the election sought from the authority
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना