नानक सिंह की पुस्तक एसजीपीसी छपाकर बांटे: बडूंगर

Patiala News - एसजीपीसी पूर्व प्रधान प्रो. किरपाल सिंह बडूंगर मंगलवार सुबह गुरुद्वारा डेरा बाबा अजयपाल सिंह घोडियांवाला...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:20 AM IST
Nabha News - nanak singh39s book sgpc printed by badungar
एसजीपीसी पूर्व प्रधान प्रो. किरपाल सिंह बडूंगर मंगलवार सुबह गुरुद्वारा डेरा बाबा अजयपाल सिंह घोडियांवाला पहुंचे। धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। प्रधान बडूंगर ने कहा कि रचनाकार नानक सिंह की किताब ख़ूनी बैसाखी जो आजादी से पहले लिखी गई थी। अंग्रेजों ने पुस्तक पर पाबंदी लगा दी थी। पुस्तक को उनके पौत्र और यूएई के राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने फिर प्रकाशित किया है। बडूंगर के मुताबिक नानक सिंह बचपन में जलियांवाला बाग में हुए गोलीकांड में मौके पर मौजूद थे। वह शवों के नीचे दब गए, किसी तरीके से बच निकले थे। उन्हाेंने पुस्तक में आंखों देखा सारा मंजर, पुस्तक में लिखा है। उन्हाेंने एसजीपीसी से अपील की है कि वह इस पुस्तक काे धर्म प्रचार मुहिम के अधीन छपाकर मुफ्त बांटे। यहां राजिंदरपाल सिंह, प्रधान अजमेर सिंह, तेजिंदर सिंह कपूर, गुरदीप सिंह खालसा, करमजीत सिंह और गुरबचन सिंह मौजूद रहे।

भास्कर संवाददाता|नाभा

एसजीपीसी पूर्व प्रधान प्रो. किरपाल सिंह बडूंगर मंगलवार सुबह गुरुद्वारा डेरा बाबा अजयपाल सिंह घोडियांवाला पहुंचे। धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। प्रधान बडूंगर ने कहा कि रचनाकार नानक सिंह की किताब ख़ूनी बैसाखी जो आजादी से पहले लिखी गई थी। अंग्रेजों ने पुस्तक पर पाबंदी लगा दी थी। पुस्तक को उनके पौत्र और यूएई के राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने फिर प्रकाशित किया है। बडूंगर के मुताबिक नानक सिंह बचपन में जलियांवाला बाग में हुए गोलीकांड में मौके पर मौजूद थे। वह शवों के नीचे दब गए, किसी तरीके से बच निकले थे। उन्हाेंने पुस्तक में आंखों देखा सारा मंजर, पुस्तक में लिखा है। उन्हाेंने एसजीपीसी से अपील की है कि वह इस पुस्तक काे धर्म प्रचार मुहिम के अधीन छपाकर मुफ्त बांटे। यहां राजिंदरपाल सिंह, प्रधान अजमेर सिंह, तेजिंदर सिंह कपूर, गुरदीप सिंह खालसा, करमजीत सिंह और गुरबचन सिंह मौजूद रहे।

X
Nabha News - nanak singh39s book sgpc printed by badungar
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना