• Home
  • Punjab News
  • Phagwara
  • गंभीर रोगों से पीड़ित छह हवालाती और कैदी सिविल अस्पताल में भर्ती
--Advertisement--

गंभीर रोगों से पीड़ित छह हवालाती और कैदी सिविल अस्पताल में भर्ती

मॉर्डन जेल के अस्पताल से कपूरथला के सिविल अस्पताल में शिफ्ट होकर आए 6 कैदियों और हवालातियों को इमरजेंसी वार्ड में...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:40 AM IST
मॉर्डन जेल के अस्पताल से कपूरथला के सिविल अस्पताल में शिफ्ट होकर आए 6 कैदियों और हवालातियों को इमरजेंसी वार्ड में भर्ती किया गया। इमरजेंसी वार्ड में गंभीर रोगों से ग्रस्त और दुर्घटना के शिकार मरीजों को रखने के लिए 12 बैड है। हवालाती परमिंदर सिंह पुत्र सुखदेव सिंह निवासी गोराया जालंधर ने बताया कि अवैध हथियार रखने के मामले में पिछले ढाई सालों से जेल में बंद है और वह टीबी की बीमारी से पीड़ित है।

शनिवार सुबह अचानक उसकी तबीयत बिगड़ने लगी तो जेल के अस्पताल से प्राथमिक उपचार के लिए कपूरथला सिविल अस्पताल भेज दिया। हवालाती हरप्रीत कुमार पुत्र महिंदर राम निवासी फगवाड़ा जोकि नशीले पाउडर के मामले में जमानत न होने पर मार्डन जेल में बंद हैं। उसने बताया कि वह 130 ग्राम नशीले पाउडर के मामले में पिछले 9 महीनों से बंद हैं। शनिवार को अचानक छाती में दर्द होने के कारण मार्डन जेल के डॉक्टर ने प्राथमिक उपचार के बाद कपूरथला सिविल अस्पताल रेफर कर दिया। कैदी रजवंत सिंह पुत्र अनोक सिंह निवासी गांव खस्सण ने बताया कि 260 ग्राम नशीले पदार्थ के मामले में मार्डन जेल में 10 साल की सजा भुगत रहा है। शनिवार सुबह अचानक उसकी छाती में तेज दर्द हुआ। इसके बाद मार्डन जेल के डॉक्टर ने प्राथमिक उपचार के बाद कपूरथला सिविल अस्पताल के लिए भेज दिया। हवालाती दलजीत सिंह पुत्र महक मुलतानी निवासी जालंधर ने बताया कि उसने किसी की जमानत दी थी। जिसकी जमानत दी थी, वह अदालत में पेश नहीं हुआ। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। शनिवार को अचानक उसके दिल में तेज दर्द हुआ। जिसके कारण मार्डन जेल के डाक्टरों ने उसे सिविल अस्पताल भेज दिया। कैदी शंकर सिंह पुत्र स्वर्ण सिंह निवासी खलचियां ने बताया कि शनिवार सुबह अचानक छाती में तेज दर्द होने के कारण मार्डन जेल के डाक्टर ने उसका प्राथमिक उपचार कर सिविल अस्पताल भेज दिया गया। हवालाती रमन शर्मा पुत्र हरीश शर्मा निवासी फगवाड़ा ने बताया कि वह कत्ल के मामले में गत 7 सालों से सजा भुगत रहा है। शनिवार उसे पैरेलाइस का अटैक आने के कारण डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार कर सिविल अस्पताल भेज दिया है। ड्यूटी डॉक्टर के मुताबिक सभी कैदियों का इमरजेंसी वार्ड में डॉक्टरों की टीम ने उपचार किया। उन्हें जल्द ही कैदी वार्ड में भेज दिया जाएगा।