• Home
  • Punjab News
  • Phagwara
  • बाजार बंद करवाने से हिंसा के लिए होगा प्रशासन जिम्मेदार : जनरल समाज मंच
--Advertisement--

बाजार बंद करवाने से हिंसा के लिए होगा प्रशासन जिम्मेदार : जनरल समाज मंच

जनरल समाज मंच पंजाब की बैठक शनिवार देर शाम सनातन धर्म सभा भवन गुड़मंडी रोड में आयोजित की गई। इसमें सभा के प्रदेश...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:40 AM IST
जनरल समाज मंच पंजाब की बैठक शनिवार देर शाम सनातन धर्म सभा भवन गुड़मंडी रोड में आयोजित की गई। इसमें सभा के प्रदेश अध्यक्ष फतेह सिंह परहार, महासचिव गिरीश शर्मा, प्रदेश सचिव डा.सतनाम सिंह परमार, डा.अशोक शर्मा, जिला प्रधान एडवोकेट विजय शर्मा, जिला उप प्रधान अशोक सेठी, फगवाड़ा प्रधान प्रो. पीके बांसल के अलावा रमन नेहरा प्रधान खत्री सभा पंजाब शामिल हुए।

बैठक के दौरान माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा एससी/एसटी एक्ट में सुधार करते हुए एफआईआर दर्ज करने से पहले डीएसपी रैंक के अधिकारी से मामले की जांच के दिये गए निर्देश की सराहना की गई व साथ ही पंजाब विधानसभा में उच्चतम न्यायालय के निर्णय पर पुनर्विचार करने संबंधी पास किये गए प्रस्ताव को निंदनीय व दुर्भाग्यपूर्ण बताया गया। विभिन्न वक्ताओं ने कहा कि एट्रोसिटी एक्ट का बड़े पैमाने पर दुरुपयोग होता है व निजी रंजिश निकालने के लिए झूठे मुकद्दमे दर्ज करवाये जाते रहे हैं मगर इस मुद्दे पर कोर्ट के निर्णय का स्वागत करने की बजाय सभी राजनीतिक दल अपना वोट बैंक बचाने में लगे हैं। फतेह सिंह परहार तथा गिरीश शर्मा ने कहा कि सभी को न्यायपालिका का सम्मान करना चाहिए। संविधान के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है कुछ लोग इस बारे झूठा प्रचार करके वर्ग विशेष को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने बहुत ही तल्ख शब्दों में कहा कि सोमवार 2 अप्रैल को बंद की आड़ में हिंसा अथवा हुल्लड़बाजी किसी कीमत पर सहन नहीं होगी। किसी ने जबरन बाजार बंद करवाने की कोशिश करके माहौल बिगाड़ा तो इसके लिए प्रशासन जिम्मेवार होगा।

इस अवसर पर पार्षद अनुराग मानखंड, कुलविन्द्र किंदा, तृप्ता शर्मा, सतनाम सिंह अर्शी, संजय ग्रोवर, रोहित पाठक, संजीव बुग्गा पार्षद, मनीष प्रभाकर, परमजीत सिंह खुराना, जतिन्द्र वरमानी, रामपाल उप्पल, अशोक पराशर, बंटी वालिया, प्रेम किशन भारद्वाज, योगेश प्रभाकर, अशोक डीलक्स, निर्मल सिंह, जतिन्द्र पलाही, अवतार सिंह मंड, हरजीत सिंह किन्नड़ा, कुलदीप शर्मा, राजकुमार, संजीव शर्मा, चैन सिंह, हरिओम शर्मा, पंकज बजाज, कमल माटा, अनिल शर्मा आदि उपस्थित थे।



मीटिंग को संबोधित करते हुए निर्मल सिंह ने कहा-न्यायपालिका का सम्मान करें।