--Advertisement--

82 करोड़ में तय हुआ था हिंदू नेताओं की हत्या का सौदा, 2 कांग्रेसी भी थे निशाने पर

इस्तेमाल किए गए हथियारों को मुहैया करवाने के लिए धर्मेंद्र सिंह गुगनी को 20 लाख रुपए दिए गए थे।

Dainik Bhaskar

Nov 17, 2017, 06:00 AM IST
82 crore was decided in the killing of Hindu leaders

मोगा. पंजाब में आरएसएस, शिव सेना समेत सात टारगेट किलिंग मामले में गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है। बताते हैं कि इन लोगों के निशाने पर दिल्ली के दो बड़े कांग्रेसी भी थे। इन सभी हत्याओं के लिए उन्हें 82 करोड़ रुपए दिए जाने थे। इनमें से 20 करोड़ रुपए की पेमेंट की भी जा चुकी थी। हत्या में इस्तेमाल किए गए हथियारों को मुहैया करवाने के लिए धर्मेंद्र सिंह गुगनी को 20 लाख रुपए दिए गए थे।

इधर, मोगा पुलिस ने वीरवार को गुगनी को अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में नाभा जेल भेज दिया है। गुगनी पर वकील, गैंगस्टर और शातिर अपराधी के कत्ल का आरोप भी है। उसे लुधियाना स्टेशन पर पौने दो साल पहले छह हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया था।

हालांकि गुगनी ने गांव फतेहगढ़ कोरोटाना में सितंबर 2011 में गोलियां मारकर कत्ल किए युवक के मामले में जुर्म कबूल नहीं किया है। इसी कत्ल के लिए पूछताछ करने के लिए धर्मकोट पुलिस ने उसे सात दिन के रिमांड पर लिया था। लुधियाना के रहने वाले कुख्यात अपराधी धर्मेंद्र गुगनी निवासी का वीरवार को रिमांड खत्म होने पर उसे सुबह सरकारी अस्पताल में मेडिकल करवाने के बाद अदालत में पेश किया गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार धर्मेंद्र गुगनी ने रिमांड दौरान हुई पूछताछ में कबूल किया है कि उसने चार अप्रैल 2011 को छिंदा संगोवाल का गोलियां मारकर कत्ल किया था। 20 फरवरी 2016 को रवि खवाचके को मारा था। 2013 में एडवोकेट अमनप्रीत सेठी को गोलियां मारी थीं। जनवरी 2016 में लुधियाना स्टेशन पर वह छह हथियारों के साथ पकड़ा गया था।

इसके अलावा टारगेट किलिंग मामले में उसने बिहार से चार हथियार मंगवाकर रमनदीप रमना को दिए थे। इससे आरएसएस शिव सेना नेताओं के कत्ल हुए थे। इसके लिए उसे लगभग 20 लाख रुपए असलहा सप्लाई करने के लिए मिले थे।

लंदन में जगतार सिंह जौहल की गिरफ्तारी का विरोध
हिंदू नेताओं के कत्ल के आरोप में गिरफ्तार यूके के होटल कारोबारी जगतार सिंह जौहल के पक्ष में जहां सोशल मीडिया पर जोर शोर से प्रचार किया जा रहा है। वीरवार को कामनवेल्थ आफिस लंदन में लोगों की तरफ से प्रोटेस्ट किया गया है। जानकारी अनुसार 17 दिसबंर 2016 में थाना बाघापुराना पुलिस ने असलहा एक्ट के एक मामले में रिमांड खत्म होने पर जगतार सिंह जौहल को बाघापुराना की अदालत में शुक्रवार को पेश किया जाएगा।

कत्ल करवाने वाले बाईजी पीएचडी की तलाश में पुलिस
टारगेटकिलिंग मामले में सभी आरोपियों से हुई पूछताछ में सामने आया है कि खालिस्तान लिब्रेशन फोर्स के आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू रमनदीप सिंह रमना, जिम्मी, जगतार सिंह जौहल, हरदीप सिंह शेरा के आईएसआई के साथ संबंध होने की बात सामने आने के अलावा अब तक हुई हत्याओं के लिए 20 करोड़ रुपए मिल चुके हैं। जबकि 82 करोड़ रुपए की फंडिंग का मामला सामने आया है। पुलिस इनसे हत्याएं करवाने वाले बाईजी पीएचडी की तलाश में जुटी है।

X
82 crore was decided in the killing of Hindu leaders
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..