• Home
  • Punjab News
  • Rahon News
  • पांच मरले के प्लाटों पर बिल लगाने का प्रस्ताव कौंसिल में इस बार भी पेंडिंग
--Advertisement--

पांच मरले के प्लाटों पर बिल लगाने का प्रस्ताव कौंसिल में इस बार भी पेंडिंग

नगर कौंसिल की मासिक बैठक प्रधान हेमंत रणदेव की अध्यक्षता में की गई। बैठक में शहर के विकास को लेकर 17 प्रस्ताव पेश...

Danik Bhaskar | Jun 01, 2018, 03:45 AM IST
नगर कौंसिल की मासिक बैठक प्रधान हेमंत रणदेव की अध्यक्षता में की गई। बैठक में शहर के विकास को लेकर 17 प्रस्ताव पेश किए गए, जिनमें से एक प्रस्ताव को समूह पार्षदों द्वारा विचार के लिए पेंडिंग रख लिया गया। पार्षद बलदेव भारती ने कहा कि कांग्रेस सरकार की ओर से पांच मरले प्लाटों के माफ पानी के बिलों को फिर से लागू करने के फैसले ने लोगों पर बोझ डाल दिया है।

पिछली बैठक में हाउस द्वारा इस प्रस्ताव को पेंडिंग रखा गया था। डिप्टी डायरेक्टर ने इस प्रस्ताव के संबंध में प्रधान व सदस्यों को लिखा है कि पंजाब सरकार की हिदायतों के अनुसार यह प्रस्ताव अगली बैठक में पास किया जाए, क्योंकि नगर कौंसिल की वित्तीय हालत पहले ही खस्ता है। अगर हिदायतों का पालन न करने से कमेटी को जो वित्तीय नुकसान होगा, उसकी जिम्मेदारी खुद कमेटी व कमेटी मेंबरों की होगी।

इस दौरान पानी के माफ बिल प्रदेश सरकार की ओर से फिर से लागू करने पर पार्षदों ने सरकार के प्रति रोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पंजाब की सभी नगर निगम तथा नगर कौंसिलों को मिलकर अपनी आवाज को सरकार तक पहुंचाना चाहिए, ताकि सरकार के इस फैसले को रोका जा सके। बैठक में नप प्रधान हेमंत रणदेव ने कहा कि नगर कौंसिल के पास इस समय चार वाटर ट्यूबवैल हैं। किसी भी समय कोई भी ट्यूबवैल खराब होने पर इसकी रिपेयर करवाने पर चार-पांच दिन का समय लग जाता है। बैठक में नप स्टाफ की ओर से नगर कौंसिल की पुरानी बिल्डिंग में कमरों की कमी के बारे में कौंसिल को जानकारी दी। बैठक में वाइस प्रधान मोहन लाल जांगड़ा, सोमा देवी, सुभाष चंद्र, जीत कौर, हरजीत कौर, महिंदर सिंह, सुरिंदर कौर, गुरमेल राम, बलवीर कौर, अजय वशिष्ट, रमन कुमार, नरिंदर कुमार, जगदीप सिंह आदि मौजूद रहे।

बैठक की अध्यक्षता करते हेमंत रणदेव।

पंप खरीदने के लिए 75 हजार होंगे खर्च

नप के पास कोई अतिरिक्त सबमर्सिबल पंप न होने के कारण लोगों तक पानी को पहुंचाना मुश्किल हो जाता है, इसलिए एमरजेंसी में एक सबमर्सिबल पंप रिजर्व होना जरूरी है। इस पंप को खरीदने के लिए 75 हजार रुपए की राशि कौंसिल की ओर से खर्च की जाएगी।