बाजा एसएई इंडिया-2019 की 12वीं यात्रा को आईआईटी रोपड़ ने दी झंडी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आईआईटी रोपड़ ने बहुप्रतीक्षित बाजा एसएई इंडिया-2019 शृंखला के 12वें संस्करण की यात्रा के दूसरे खंड को हरी झंडी दिखाई। महिंदरा और अन्य औद्योगिक प्रायोजकों के साथ इस प्रोग्राम का फिनाले 7 से 11 मार्च तक आईआईटी रोपड़ में हो रहा है। बाजा एसएई इंडिया 2019 के लिए लगभग 363 एंट्रियां प्राप्त हुई है और जिनमें से 80 टीमों को आभासी दौर में पारंपरिक बाजा इवेंट के लिए चुना गया और 11 मार्च को एचआर की बैठक के उपरांत फिनाले का आयोजन होगा।

आईआईटी रोपड़ के निदेशक डॉ. एसके दास ने कहा कि बाजा के 2018 के एक शानदार संस्करण के बाद आईआईटी रोपड़ ‘मेक इन इंडिया’ में स्पष्ट तथा सक्रिय रूप से शामिल होने का प्रयास करता है और बाजा 2019 घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने की इच्छा रखता है। उन्होंने कहा कि बाजा एसएई इंडिया 2019 के 12वें संस्करण का पहला खंड 23 से 29 जनवरी 2019 तक इंदौर के पीथमपुर में आयोजित किया गया था। इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलाजी, अहमदाबाद से निरमा विश्वविद्यालय को ‘सर्वश्रेष्ठ ई बाजा टीम\\\' और पुणे के सरकारी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग को बाजा एसएई इंडिया-2019 के पहले खंड संस्करण में ‘सर्वश्रेष्ठ एम बाजा टीम\\\' घोषित किया गया।

आईआईटी रोपड़ द्रारा बहुप्रतीक्षित बाजा एसएई इंडिया-2019 के 12वें संस्करण की यात्रा के दौरान जानकारी देते हुए।

खबरें और भी हैं...