सीसीटीवी में तहसीलदार पीड़ितों से मिलते दिखे एसएचओ के साथ चाय पी और जफी डालकर निकले

Ropar News - जिला पुलिस और रेवेन्यू एसोसिएशन का तहसीलदार मोरिंडा अमनदीप चावला के मामले को लेकर विवाद गहराता नजर आ रहा है। अब...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:33 AM IST
Morinda News - on cctv tehsildars were seen meeting the victims and went out after drinking tea and jafi with sho
जिला पुलिस और रेवेन्यू एसोसिएशन का तहसीलदार मोरिंडा अमनदीप चावला के मामले को लेकर विवाद गहराता नजर आ रहा है। अब एसोसिएशन ने गत दिन लुधियाना में हुई मीटिंग में नया प्रस्ताव पास किया है। 10 सितंबर को चीफ सचिव को दिए अपने ज्ञापन में एसोसिएशन ने ऐलान किया था कि पूरे पंजाब के रेवेन्यू अधिकारी सभी मजिस्ट्रेट व प्रोटोकोल ड्यूटी का बायकाट करेंगे। पुलिस पर गैर कानूनी कैद में रखने का मामला दर्ज नहीं होने और एसएसपी की बदली नहीं होने नहीं तक वह काम नहीं करेंगे। इससे पहले 10 सितंबर को एसोसिएशन ने चीफ सचिव को दिए ज्ञापन में एेसी कोई बात नहीं कही। बता दें कि 2 सितंबर को मोरिंडा के गांव बमनाड़ा में पुलिस और लोगों के बीच खींचातान के बाद एसएसपी रोपड़ ने तहसीलदार अमनदीप चावला के खिलाफ फाइनेंशियल कमिश्नर रेवेन्यू को मौके पर नहीं पहुंचने संबंधी शिकायत दी थी। इससे खफा होकर तहसीलदार के पक्ष में रेवेन्यू एसोसिएशन खड़ी हो गई और 10 सितंबर को तहसीलदार अमनदीप चावला के हक में मुख्य सचिव को मांग पत्र दिया। इसमें केवल एसएसपी की तरफ से तहसीलदार के साथ अभद्र व्यवहार करने के आरोप लगाए गए थे और उनकी बदली की मांग की थी।

तल्खी बढ़ी निकला कुछ नहीं : रेवेन्यू एसो का पुलिस के खिलाफ माेर्चा, एसएसपी बदलने की मांग

वक्त 10 बजकर 49 मिनट
फुटेज चेक करने पर उस रात की नहीं मिली जबरन थाने में बिठाकर रखने की कोई तस्वीर

एसोसिएशन की तरफ से जिस बात को बेस बनाकर पुलिस पर गैर कानूनी कैद में रखने की बात कही जा रही है, उसकी सच्चाई जानने के लिए जब उस रात सिटी थाने का सीसीटीवी चेक किया तो उसमें कहीं भी यह दिखाई नहीं दिया कि तहसीलदार अमनदीप सिंह को जबरन थाने में बिठा कर रखा गया हो। 2 सितंबर रात 10:49 मिनट पर तहसीलदार अमनदीप सफेद टी-शर्ट पहने अपने एक दोस्त के साथ सिटी थाने में एंटर होते हैं और करीब डेढ़ घंटे बाद 12:18 मिनट पर वह सिटी थाने में पुलिस द्वारा लाई गई महिला व उसकी बेटी को मिलकर सिटी थाने से बाहर आते हैं। उनके साथ थाना सिटी के एसएचओ हरकीरत सिंह दिखाई दे रहे हैं। वह उन्हें उनकी कार तक छोड़ने आते हैं और जाते जाते तहसीलदार अमनदीप एसएचओ को जफी डालकर विदा लेते हैं। यहां पर सवाल यह उठता है कि जब खुद तहसीलदार सिटी थाने में आते हैं और उन्हें उनकी कार तक छोड़ने के लिए थाना सिटी प्रभारी आते हैं तो फिर गैर कानूनी कैद कैसी? इस संंबंधी जब तहसीलदार मोरिंडा के साथ बात करनी चाही तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।

वक्त 12 बजकर 18 मिनट
वक्त 12. 18 मिनट 10 सेकेंड
एसएचओ बोले- चाय पीकर गए हैं तहसीलदार, मैं उन्हें कार तक छोड़कर आया

सिटी एसएचओ हरकीरत सिंह ने कहा कि 2 सितंबर को रात को तहसीलदार मोरिंडा खुद अपनी प्राइवेट कार में अपने किसी दोस्त के साथ थाना सिटी रोपड़ में बमनाड़ा मामले में लोगों से बचाकर लाई गई आरोपी की प|ी व उसकी बेटी को मिलने के लिए आए थे और करीब डेढ़ घंटा थाना सिटी में रहे। मेरी उनसे पुरानी पहचान है क्योंकि मैं मोरिंडा में एसएचओ तैनात था। उनके मेरे साथ अच्छे संबंध हैं जिसके चलते वह चाय भी पीकर गए हैं।

Morinda News - on cctv tehsildars were seen meeting the victims and went out after drinking tea and jafi with sho
Morinda News - on cctv tehsildars were seen meeting the victims and went out after drinking tea and jafi with sho
X
Morinda News - on cctv tehsildars were seen meeting the victims and went out after drinking tea and jafi with sho
Morinda News - on cctv tehsildars were seen meeting the victims and went out after drinking tea and jafi with sho
Morinda News - on cctv tehsildars were seen meeting the victims and went out after drinking tea and jafi with sho
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना