कांग्रेस प्रत्याशी की भागवत गीता के बारे में सोच निंदनीय : संजीव घनौली

Ropar News - आनंदपुर साहिब से कांग्रेस पार्टी की तरफ से हिन्दू उम्मीदवार मनीष तिवारी को उतारे जाने का विरोध शुरू हो गया है। ...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:25 AM IST
Aanandpur Sahib News - thinking about the congress candidate39s bhagwat geeta condemnable sanjeev ghanuli
आनंदपुर साहिब से कांग्रेस पार्टी की तरफ से हिन्दू उम्मीदवार मनीष तिवारी को उतारे जाने का विरोध शुरू हो गया है।

पंजाब शिव सेना ने इस मामले में मनीष तिवारी के खिलाफ भागवद गीता के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर कड़ा एतराज दर्ज करवाया है। शिव सेना पंजाब के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष संजीव घनौली ने कहा है कि हिन्दू समाज मे भागवद गीता ग्रंथ का एक खास महत्त्व है। आनंदपुर साहिब से कांग्रेस के उम्मीदवार मनीष तिवारी द्वारा भागवद गीता को राष्ट्रीय ग्रंथ बनाने की मांग पर इसे देश की एकता के लिए खतरा बताया जाना निंदनीय है। तिवारी ब्राह्मण समाज से संबंध रखते है लेकिन उन्हें भागवद गीता से एतराज है जबकि यह ग्रंथ हिन्दुओं के लिए आस्था का केंद्र है। घनौली ने कहा कि हम कांग्रेस के उम्मीदवार मनीष तिवारी का तब तक विरोध करेंगे जब तक तिवारी समाज मे अपनी स्थिति को स्पष्ट नही कर देते। चुनावों में राजनीतिक दलों की ओर से बाहरी प्रत्याशियों को उम्मीदवार बनाया जाना इस बात का प्रमाण है कि दलों में सब कुछ ठीक नही है। जीतने के बाद यह लोग इन इलाकों का रुख नही करते जिससे जनता की उम्मीदों पर पानी फिर जाता है। उन्होंने कहा कि बाहरी प्रत्याशियों का इलाके से कोई लगाव नही होता और वह तो जीतने के बाद अपने वायदों को भी भूल जाते हैं। इस लिए लोग सोच समझ कर वोट डालें। उन्होंने खास तौर पर आनंदपुर साहिब में अकाली भाजपा गठबंधन के उम्मीदवार प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा के बाद कांग्रेस के मनीष तिवारी को बाहरी उम्मीदवार बताया है।

शिवसेना पंजाब के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष संजीव घनौली संबोधित करते हुए।

X
Aanandpur Sahib News - thinking about the congress candidate39s bhagwat geeta condemnable sanjeev ghanuli
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना