Hindi News »Punjab »Sangat» दरबार साहिब लंगर हाल में ही तैयार होगा संगत की चपाती का आटा

दरबार साहिब लंगर हाल में ही तैयार होगा संगत की चपाती का आटा

अमृतसर | दुनिया की सबसे बड़ी सांझी रसोई एसजीपीसी द्वारा संचलित दरबार साहिब के लंगर में संगत के लिए आए दिन हो रहे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 19, 2018, 02:50 AM IST

अमृतसर | दुनिया की सबसे बड़ी सांझी रसोई एसजीपीसी द्वारा संचलित दरबार साहिब के लंगर में संगत के लिए आए दिन हो रहे सुधार की कड़ी में आटा भी लंगर हाल में ही तैयार होगा। इसके लिए कमेटी ने वहीं पर आटा तैयार करने की योजना बनाई है। इसके तहत आटा चक्की लगाने के साथ-साथ आटे को स्टोर करने के लिए सुविधा भी होगी। यह फैसला बुधवार को लंगर के चल रहे कामों के लिए एसजीपीसी की ओर से बनाई सब कमेटी की मीटिंग के दौरान लिया गया। सब कमेटी की मीटिंग में जूनियर उप प्रधान हरपाल सिंह जल्ला, अंतरिम कमेटी मेंबर भगवंत सिंह स्यालिका, लखबीर सिंह अरांईआं वाला, रविंदर सिंह चक, गुरतेज सिंह ढडे, सजन सिंह, एसजीपीसी के मुख्य सचिव डा रूप सिंह, मैनेजर जसविंदर सिंह दीनपुर, सुखमिंदर सिंह शामिल थे।

इस संबंधी जानकारी देते हुए एसजीपीसी के प्रवक्ता व अतिरिक्त सचिव दिलजीत सिंह बेदी ने बताया कि श्री दरबार साहिब में संगत की बढ़ती आमद को लेकर लंगर हाल की नई इमारत तैयार करवाई जा रही है। इसी दौरान ही फैसला लिया गया कि लंगर हाल को एसी किया जाएगा। रसोई की तैयारी में गरम व ठंडे पानी की सुविधा और अन्य समान के लिए जल्द ही टेंडर लगाए जाएंगे। इसके साथ ही लंगर की रसोई में बायो गैस का इस्तेमाल करने संबंधी नगर निगम के साथ मीटिंग के लिए कमेटी मेंबरों की ड्यूटी लगाई गई है। यह कमेटी नगर निगम से पूरी रिपोर्ट लेकर प्रधान को पेश करेगी। इसी के साथ ही लंगर हाल की बेसमेंट में गेहूं को संभाल कर रखने लिए आधुनिक तरीके से स्टोर तैयार होगा। जिसमें 1500 बैग गेहूं स्टोर एक बार रखी जा सकेगी। इसी के साथ ही संगत का स्वच्छ आटे की रोटी खिलाने लिए एक चक्की लगाने का भी फैसला किया गया। लंगर में लगाई गई लिफ्टों के लिए आपरेटर व टेक्निकल स्टाफ रखने संबंधी आने वाले दिनों में इश्तहार देकर कार्रवाई मुकम्मल की जाएगी।

एसजीपीसी लगाए मशीन, सब कमेटी की मीटिंग में लिया गया फैसला

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sangat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×