--Advertisement--

कैबिनेट के फैसले और उनका असर

फैसला: 20 नए एम्स, 73 मेडिकल कॉलेज अपग्रेड होंगे असर: 2003 में घोषित योजना के तहत 20 में से 6 एम्स बन चुके हैं। नए एम्स से...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 03:00 AM IST
फैसला: 20 नए एम्स, 73 मेडिकल कॉलेज अपग्रेड होंगे

असर: 2003 में घोषित योजना के तहत 20 में से 6 एम्स बन चुके हैं। नए एम्स से स्वास्थ्य शिक्षा और प्रशिक्षण में सुधार आएगा। पेशेवरों की कमी भी पूरी होगी। दावा है कि हर एम्स में 3-3 हजार यानी करीब 60 हजार नई नौकरियां मिलेंगी।

फैसला: दिल्ली के नजफगढ़ में 100 बिस्तरों वाले अस्पताल को मंजूरी

असर: नजफगढ़ के आस-पास 73 गांवों की करीब 13.65 लाख की आबादी को फायदा होगा। स्त्री रोग, पेडियाट्रिक, सर्जरी व ब्लड बैंक जैसी सुविधाएं होंगी। आमजन को सस्ती चिकित्सा सुविधा मिलेगी।

फैसला: कृषि मंत्रालय की 11 योजनाओं का ‘हरित क्रांति कृषि उन्नति योजना’ में विलय। दो साल में 33269.97 करोड़ खर्च होंगे।

असर: वैज्ञानिक तरीके से खेती और इससे जुड़ी योजनाएं शामिल। पैदावार बढ़ने, किसानों को फसलों के बेहतर दाम मिलने और आय बढ़ने की उम्मीद।

फैसला: लखनऊ, गुवाहाटी और चेन्नई हवाई अड्डों पर नए टर्मिनल

असर: तीनों एयरपोर्ट का क्षेत्र व यात्री क्षमता बढ़ेगी। लखनऊ एयरपोर्ट की सालाना घरेलू यात्री क्षमता 1.10 करोड़, चेन्नई की 3.5 करोड़ होगी। ‘एक्ट ईस्ट’ नीति के तहत गुवाहाटी एयरपोर्ट की क्षमता 90 लाख यात्री होगी। पूर्वोत्तर में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

फैसला: अल्पसंख्यक कार्यक्रम का नाम बदलने को मंजूरी

असर: कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, “मंत्रिमंडल ने अल्पसंख्यक समुदाय के फायदे के लिए दूरगामी बदलावों को मंजूरी दी है। इसमें विशेष रूप से शिक्षा, स्वास्थ्य व कौशल विकास हैं।’ जनसंख्या प्रतिशत मानदंड कम कर अल्पसंख्यकों के समूहों की पहचान को भी तर्कसंगत बनाया गया है।