• Hindi News
  • Punjab News
  • Sangat News
  • बादल परिवार ने 10 साल में प्राइवेट चार्टेड हेलिकॉप्टरों पर सरकारी खजाने से 1.21 अबर रुपए खर्चे : सिद्धू
--Advertisement--

बादल परिवार ने 10 साल में प्राइवेट चार्टेड हेलिकॉप्टरों पर सरकारी खजाने से 1.21 अबर रुपए खर्चे : सिद्धू

निकाय मंत्री नवजोत सिद्धू ने आरटीआई के जरिये खुलासा किया है कि बादल परिवार ने अपनी सरकार के दस वर्षों में सरकारी...

Dainik Bhaskar

Jul 16, 2018, 03:10 AM IST
निकाय मंत्री नवजोत सिद्धू ने आरटीआई के जरिये खुलासा किया है कि बादल परिवार ने अपनी सरकार के दस वर्षों में सरकारी खजाने से 1 अरब 21 करोड़ 15 लाख खर्च करके प्राइवेट व चार्टेड हेलिकॉप्टरों के मजे लिए। सिद्धू ने कहा कि खजाने की ऐसी लूट की गई कि पूर्व सीएम परकाश सिंह बादल सरकारी खर्चे पर हैलीकॉप्टर में घूमते हुए भी 500 रुपए का दैनिक सफर भत्ता भी लगातार हासिल करते रहे। सरकारी खजाने की लूट के लिए नियमों को कैसे ताक पर रखा गया इसका उदाहरण यह है कि पूर्व सीएम की प|ी सुरिंदर कौर बादल के दो बार अमेरिका में इलाज कराने का करीब 8 लाख रुपए का खर्च बिना ट्रैवलिंग टिकटों या बोर्डिंग पास के ही जारी कर दिया गया।

आरोप

पूर्व सीएम बादल हेलिकॉप्टर से जाते रहे और फिर भी 500 रुपए दैनिक सफर भत्ता लेते रहे

पांच खुलासे किए जाएंगे | सिद्धू ने कहा कि बादल परिवार को धन्नाढ़ राजनीतिक परिवारों में से माना जाता है, लेकिन जिस तरीके से उक्त परिवार द्वारा सरकारी खजाने की लूट की गई है, उससे इस परिवार की नैतिकता का पता चलता है। सिद्धू ने कहा कि आगामी दिनों में वो पांच प्रेस कांफ्रेंस कर बादल परिवार की लूट को उजागर करेंगे।

दलजीत सिंह ने आरटीआई के तहत जुटाई जानकारी

सिद्धू ने कहा कि उनके मित्र विधायक संगत सिंह गिलजीयां के पुत्र दलजीत सिंह गिलजीयां द्वारा आरटीआई एक्ट के तहत उक्त सारी जानकारी हासिल की गई है। सिद्धू ने कहा कि चार्टेड व प्राइवेट हेलिकॉप्टरों का ज्यादातर इस्तेमाल परकाश सिंह बादल, सुखबीर बादल, हरसिमरत कौर बादल व बिक्रम मजीठिया शामिल हैं द्वारा ही किया गया है। सिद्धू ने कहा कि जिस बेदर्दी के साथ जनता के टैक्स को खर्च किया गया है, वैसा कोई नहीं करता।

कैप्टन सरकार ने किसी मंत्री के लिए किराये पर नहीं लिया निजी हेलिकाॅप्टर

सिद्धू ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई वाली सरकार द्वारा आज तक किसी भी मंत्री के लिए एक बार भी चार्टेड या प्राइवेट हैलीकॉप्टर किराए पर नहीं लिया है। सिर्फ दो बार राज्यपाल की यात्रा के लिए और डेरा सिरसा को सजा सुनाए जाने के समय डीजीपी व चीफ सेक्रेटरी के दौरे के लिए यह सेवा ली गई, जिस पर मात्र 37.85 लाख रुपए का खर्च किया गया। सिद्धू ने कहा कि कैप्टन सरकार बनने के बाद सरकारी हैलीकॉप्टर के पैट्रोल खर्च पर भी नौ माह के दौरान 22 लाख रुपए खर्चे गए हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..