Hindi News »Punjab »Sangat» श्री दरबार साहिब में अखंड पाठ के लिए 8 साल का इंतजार भी कम नहीं कर पाता श्रद्धालुओं की आस्था

श्री दरबार साहिब में अखंड पाठ के लिए 8 साल का इंतजार भी कम नहीं कर पाता श्रद्धालुओं की आस्था

सिखों के सबसेे बड़े धार्मिक स्थल श्री दरबार साहिब में एक तरफ जहां दुनिया भर से लाखों श्रद्धालु रोजाना माथा टेकने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 02, 2018, 03:30 AM IST

सिखों के सबसेे बड़े धार्मिक स्थल श्री दरबार साहिब में एक तरफ जहां दुनिया भर से लाखों श्रद्धालु रोजाना माथा टेकने पहुंचते हैं, वहीं यहां अखंड पाठ करवाने के इच्छुक भी हजारों की गिनती में हैं। पाठ की मुराद को पूरी करने के लिए श्रद्धालुओं को दो से 8 साल तक का इंतजार करना पड़ता है, लेकिन ये इंतजार उनकी आस्था को और अटूट कर देता है। श्री दरबार साहिब परिसर का हर कोना संगत के लिए पवित्र है, लेकिन फिर भी कुछ लोग कुछ खास जगहों ही पाठ करवाना चाहते हैं। इनमें अकाल तख्त साहिब, हरि की पौड़ी, दुख भंजनी बेरी, गुरुद्वारा लाची बेरी, गुरुद्वारा शहीद बाबा गुरबख्श सिंह आदि जगह शामिल हैं।

जिसने आज बुकिंग कराई है, उसका नंबर 2026 में आएगा,दुख भंजनी बेरी के गुरुद्वारा साहिब में पाठ के लिए वेटिंग सबसे लंबी

45 जगह लगातार चल रहे हैं पाठ

श्री दरबार साहिब में 45 जगहों पर श्री अखंड पाठ लगातार चलते रहते हैं, लेकिन श्रद्धालुओं की पहली पसंद सचखंड के साथ हरि की पौड़ी और दुख भंजनी बेरी वाली जगह पर पाठ करवाना होता है। जिसे सेहतमंदी के लिए पाठ करवाना होता है उसकी यही कोशिश रहती है कि दुख भंजनी बेरी के गुरुद्वारा साहिब में ही करवाया जाए। यहां वेटिंग सूची लंबी होने पर ही किसी और जगह पाठ करवाए जाते हैं। यहां श्रद्धालुओं को 8 साल तक इंतजार करना पड़ रहा है। पाठ की आज की तारीख में बुकिंग करवाने वाले श्रद्धालु का नंबर 2026 में आएगा। सचखंड श्री हरिमंदिर साहिब की पहली मंजिल पर स्थित हरि की पौड़ी पर पाठ शुरू करवाने वालाें को 2023 तक इंतजार करना पड़ेगा। वेटिंग लंबी होने कारण प्रबंधकों ने अभी इस जगह बुकिंग बंद की हुई है। इसी तरह गुरुद्वारा लाची बेर साहिब में भी पाठ करवाने वालों को 6 साल का इंतजार करना पड़ रहा है। श्री अकाल तख्त साहिब पर अखंड पाठ करवाने के लिए श्रद्धालुओं को 2023 तक 5 साल इंतजार करना पड़ रहा है। गुरुद्वारा शहीद बाबा गुरबख्श सिंह में 2020 तक बुकिंग चल रही है। श्री अकाल तख्त साहिब, गुरुद्वारा दुख भंजनी बेरी, गुरुद्वारा हर की पौड़ी में पाठ करवाने के लिए वेटिंग लिस्ट बहुत लंबी हो चुकी है। जिसके चलते एसजीपीसी प्रबंधकों की आेर से प्रस्ताव पारित कर फैसला किया जा चुका है कि तीन साल से ज्यादा वेटिंग वाली जगह पर बुकिंग न की जाए।

बारी के इंतजार में जज व लेफ्टिनेंट भी

श्री दरबार साहिब प्रबंधकों के मुताबिक हाईकोर्ट की जज गगनदीप कौर को श्री अखंड पाठ साहिब बुक कराने के बाद काफी इंतजार करना पड़ा। 28 अगस्त 2018 को उनकी बारी आ रही है। इसी तरह सेना में लेफ्टिनेंट सुमीत कौर को भी पाठ करवाने के लिए दो साल का इंतजार करना पड़ा। 2017 में उन्होंने बुकिंग करवाई थी, उनकी बारी 4 जून 2019 को है। जस्टिस महिंदर सिंह सूलर की बारी 22 जनवरी 2020 को आ रही है। एसजीपीसी मेंबर दयाल सिंह काेलियांवाली ने बुकिंग 2017 में करवाई थी और बारी 27 जुलाई 2018 को आ रही है। श्री दरबार साहिब कांप्लेक्स में श्री अखंड पाठ करवाने के लिए बुकिंग करवाने वालों में पूर्व मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल का परिवार भी शामिल है। लगभग 6 साल से बादल परिवार की ओर से अखंड पाठों की लड़ी चल रही है।

7500 रुपए में करवा सकते हैं बुकिंग

श्री दरबार साहिब के मैनेजर जसविंदर सिंह दीनपुर के मुताबिक मौजूदा समय में श्री अखंड पाठ साहिब करवाने वाले श्रद्धालुओं से 7500 रुपए लिए जाते हैं, जिसमें से पाठ करने वाले पाठियों को भेटा दी जाती है। इसके साथ ही श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के लिए रुमाला, कड़ाह, प्रसाद और कीर्तन करने वाले रागी जत्थे की भेटा भी शामिल हैं। इस समय अखंड पाठ करने के लिए लगभग 800 पाठी सेवाएं दे रहे हैं। पाठ की बुकिंग के लिए श्री दरबार साहिब के पास ही स्पेशल काउंटर बनाया हुआ है और इसका इंचार्ज कुलवंत सिंह को लगाया है।

परिवार नहीं पहुंच पाए तो प्रबंधक पाठ संपूर्ण करवाते हैं

श्री अखंड पाठ साहिब की शुरुआत सुबह 10 बजे होती है और तीसरे दिन सुबह 7 से 8 बजे के दौरान भोग डाले जाते हैं। अगर किसी कारण अखंड पाठ के दौरान श्रद्धालुओं के परिवार नहीं पहुंच सकते ताे प्रबंधक ही पाठ संपूर्ण करवाते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sangat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×