• Hindi News
  • Punjab News
  • Sangat News
  • ब्रिटेन ने भारत की मांग ठुकराई, 12 को खालिस्तान समर्थन रैली पर रोक से इनकार
--Advertisement--

ब्रिटेन ने भारत की मांग ठुकराई, 12 को खालिस्तान समर्थन रैली पर रोक से इनकार

लंदन/चंडीगढ़ | खालिस्तान समर्थकों की 12 अगस्त को लंदन में होने वाली रैली पर रोक लगाने की भारत सरकार की मांग को ब्रिटेन...

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 03:45 AM IST
लंदन/चंडीगढ़ | खालिस्तान समर्थकों की 12 अगस्त को लंदन में होने वाली रैली पर रोक लगाने की भारत सरकार की मांग को ब्रिटेन ने खारिज कर दिया है। थरेसा मे सरकार के एक अफसर ने कहा कि कानून के दायरे में और अहिंसक प्रदर्शनों पर वे किसी तरह की रोक नहीं लगाएंगे। अलग खालिस्तान की मांग को लेकर लंदन में 2020 में जनमत संग्रह होना है। उससे पहले इस आयोजन को लंदन डिक्लरेशन नाम दिया गया है। रैली का आयोजन करने वाले सिख फॉर जस्टिस ने कहा कि रेफरेंडम-2020 पूरी दुनिया में रहने वाले 3 करोड़ सिखों के बीच अलग तरह का प्रयोग होगा। वहीं, सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा पंजाब को दोफाड़ नहीं होने देंगे। सूबे के सिख ऐसी रैली का समर्थन नहीं करते।

पंजाब के सिख नहीं चाहते रेफरेंडम: विदेश मंत्रालय

विदेश मंत्रालय ने कहा कि ब्रिटेन सहित विश्व में रहने वाली पूरी सिख बिरादरी का भारत से गहरा संबंध है। एशियन बिजनेस एसोसिएशन ब्रेडफार्डशायर के जसबीर सिंह परमार ने कहा कि पंजाब के ज्यादातर सिख खालिस्तान को लेकर रेफरेंडम नहीं चाहते हैं। यूके में रहकर खालिस्तान पर रेफरेंडम बिलकुल इसी तरह है जैसे स्कॉटलैंड निवासी भारत में अपनी आजादी को लेकर रेफरेंडम की मांग करें।

परमजीत सिंह पम्मा भी रैली के पीछे | रैली के पीछे परमजीत सिंह पम्मा बताया गया है। परमजीत ने 2000 से ब्रिटेन में शरण ले रखी है। वह बर्मिघम में रहता है। उस पर आरएसएस सिख संगत के प्रमुख रुल्दा सिंह की हत्या का भी आरोप है। रुल्दा को 2009 में मार दिया गया था।

X

Recommended

Click to listen..