• Hindi News
  • Punjab
  • Sangat
  • गुरुद्वारा मैनेजरों का चरित्र गुरमत के मुताबिक होना जरूरी : भाई लौंगोवाल
--Advertisement--

गुरुद्वारा मैनेजरों का चरित्र गुरमत के मुताबिक होना जरूरी : भाई लौंगोवाल

Sangat News - अमृतसर | ऐतिहासिक गुरुद्वारों के मैनेजरों की मीटिंग में एसजीपीसी प्रधान गाेबिंद सिंह लौंगोवाल ने कहा कि ड्यूटी...

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2018, 04:30 AM IST
गुरुद्वारा मैनेजरों का चरित्र गुरमत के मुताबिक होना जरूरी : भाई लौंगोवाल
अमृतसर | ऐतिहासिक गुरुद्वारों के मैनेजरों की मीटिंग में एसजीपीसी प्रधान गाेबिंद सिंह लौंगोवाल ने कहा कि ड्यूटी में कोताही बर्दाश्त नहीं होगी और अच्छा काम करने वालों को सम्मानित किया जाएगा। मैनेजरों का चरित्र और व्यवहार गुरमत के मुताबिक होना चाहिए। संगत की ओर से पूछे किसी भी सवाल का जवाब गुरमत के मुताबिक तभी दिया जा सकता है अगर मैनेजर को जानकारी होगी। मैनेजर अपने आप को प्रबंधक ही न समझें, सिख धर्म के प्रचारक भी बनें। एसजीपीसी के चीफ सेक्रेटरी डॉ.रूप सिंह ने कहा कि गुरुघरों में मौजूद ऐतिहासिक निशान संभालना भी मैनेजरों की जिम्मेदारी है।

X
गुरुद्वारा मैनेजरों का चरित्र गुरमत के मुताबिक होना जरूरी : भाई लौंगोवाल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..