• Hindi News
  • Punjab
  • Sangat
  • एसजीपीसी के कच्चे 567 मुलाजिमों को पक्के होने लिए सुनाना होगा जपुजी साहिब का पाठ
--Advertisement--

एसजीपीसी के कच्चे 567 मुलाजिमों को पक्के होने लिए सुनाना होगा जपुजी साहिब का पाठ

Sangat News - शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) में अस्थाई 567 मुलाजिमों को रेगुलर करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।...

Dainik Bhaskar

Jul 26, 2018, 01:50 PM IST
एसजीपीसी के कच्चे 567 मुलाजिमों को पक्के होने लिए सुनाना होगा जपुजी साहिब का पाठ
शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) में अस्थाई 567 मुलाजिमों को रेगुलर करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। एसजीपीसी के सर्विस रूल की धारा 35 के मुताबिक रेगुलर होने के लिए मुलाजिम को जपुजी साहिब का पाठ जुबानी सुनाना होता है। यह शर्त आम मुलाजिम के लिए है। जबकि प्रचारक व ग्रंथी के लिए नितनेम की पांच बाणियां जुबानी सुनाने का नियम है। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही रेगुलर किया जा सकता है। इसके बाद ही मुलाजिम का प्रोवीडेंट फंड जमा होना शुरू होता है। पाठ सुनने की प्रक्रिया मंगलवार से शुरू की जा चुकी है और वीरवार तक जारी रहेगी। यह सारा काम एक सब कमेटी की ओर से किया जा रहा है।

सिख इतिहास व सामान्य जानकारी के सवाल भी

इस दौरान मुलाजिमों को पाठ सुनाने के साथ-साथ सामान्य जानकारी के सवालों का जवाब भी देना होता है। सेवादार वर्ग के मुलाजिमों को जपुजी साहिब की बाणी कंठ होनी चाहिए। प्रचारक व ग्रंथी श्रेणी के लिए नितनेम की पांच बाणियां जुबानी याद होनी चाहिएं। जिसमें जपुजी साहिब, जाप साहिब, सवैये, आनंद साहिब, चौपई साहिब, रहरास साहिब व साेहिला साहिब का पाठ सुनाना होता है। इसके साथ ही गुरबाणी के साथ-साथ सिख इतिहास व रहत मर्यादा के बारे भी सवाल पूछे जाते हैं। इस टेस्ट में पास होने वाला ही योग्य समझा जाता है।

सब कमेटी में ये लोग शामिल

मुलाजिमों से पाठ सुन कर उन्हें रेगुलर करने की सिफारिश करने लिए बनाई सब कमेटी में श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह, श्री दरबार साहिब के मुख्य ग्रंथी सिंह साहिब ज्ञानी जगतार सिंह, सिंह साहिब ज्ञानी मान सिंह, एसजीपीसी के मुख्य सचिव डाॅ. रूप सिंह, धर्म प्रचार कमेटी के सचिव बलविंदर सिंह जौड़ा शामिल हैं।

इन जगहों पर तैनात हैं मुलाजिम

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के मुख्य सचिव डाॅ. रूप सिंह के मुताबिक गुरबाणी सुनाने वाले मुलाजिमों में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अलग-अलग सेक्शन के मुलाजिम, धर्म प्रचार कमेटी के मुलाजिम, ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिबान व सिख मिशनों में तैनात मुलाजिम शामिल हैं।

दोनों तख्त साहिबान के दर्शन के लिए चलाईं फ्री बसें

अमृतसर | दोआबा व मालवा की संगत को दोनों तख्त साहिबान के दर्शन कराने के लिए मुफ्त बस सेवा एसजीपीसी की ओर से शुरू की गई है। दोआबा क्षेत्र की संगत की सुविधा लिए तख्त श्री केसगढ़ साहिब श्री आनंदपुर साहिब व मालवा इलाके की संगत के लिए तख्त श्री दमदमा साहिब तलवंडी साबो के लिए दो-दो बसें एसजीपीसी की ओर से भेजी गई हैं। यह बस सेवा संबंधित तख्त साहिब के प्रबंधकों की अाेर से चलाई जाएंगी। एसजीपीसी प्रधान गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने बसों को रवाना करते हुए बताया कि धर्म प्रचार के लिए पंजाब को तीन जोन में बांटा गया है। मालवा व दोआबा जोन में धर्म प्रचार के दौरान संगत को लाने ले जाने के लिए मुफ्त सेवा दी जाएगी। एसजीपीसी की ओर से संगत की सुविधा लिए पांच बसें तैयार करवाई गई थीं। दो-दो तख्त साहिबान को भेज दी गई हैं। जबकि पांचवीं बस श्री गुरु रामदास अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा से आने वाली संगत की सेवा में लगाई गई हैै। उन्होंने बताया कि तख्त साहिबान की ओर से जरूरत के मुताबिक अपने-अपने एरिया में संगत को मुफ्त सेवाएं देने के लिए टाइम टेबल बनाया जाएगा।

अमृतसर | दोआबा व मालवा की संगत को दोनों तख्त साहिबान के दर्शन कराने के लिए मुफ्त बस सेवा एसजीपीसी की ओर से शुरू की गई है। दोआबा क्षेत्र की संगत की सुविधा लिए तख्त श्री केसगढ़ साहिब श्री आनंदपुर साहिब व मालवा इलाके की संगत के लिए तख्त श्री दमदमा साहिब तलवंडी साबो के लिए दो-दो बसें एसजीपीसी की ओर से भेजी गई हैं। यह बस सेवा संबंधित तख्त साहिब के प्रबंधकों की अाेर से चलाई जाएंगी। एसजीपीसी प्रधान गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने बसों को रवाना करते हुए बताया कि धर्म प्रचार के लिए पंजाब को तीन जोन में बांटा गया है। मालवा व दोआबा जोन में धर्म प्रचार के दौरान संगत को लाने ले जाने के लिए मुफ्त सेवा दी जाएगी। एसजीपीसी की ओर से संगत की सुविधा लिए पांच बसें तैयार करवाई गई थीं। दो-दो तख्त साहिबान को भेज दी गई हैं। जबकि पांचवीं बस श्री गुरु रामदास अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा से आने वाली संगत की सेवा में लगाई गई हैै। उन्होंने बताया कि तख्त साहिबान की ओर से जरूरत के मुताबिक अपने-अपने एरिया में संगत को मुफ्त सेवाएं देने के लिए टाइम टेबल बनाया जाएगा।

X
एसजीपीसी के कच्चे 567 मुलाजिमों को पक्के होने लिए सुनाना होगा जपुजी साहिब का पाठ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..