संगरूर में 1470 वर्गगज जमीन पर घमासान

Sangrur News - कांग्रेस भवन बनाने के लिए जमीन अलाॅट किए जाने से पहले घमासान शुरू हाे गया। नगर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट सुनाम रोड पर...

Feb 15, 2020, 08:30 AM IST

कांग्रेस भवन बनाने के लिए जमीन अलाॅट किए जाने से पहले घमासान शुरू हाे गया। नगर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट सुनाम रोड पर शनिदेव मंदिर के नजदीक गुजरते गंदे नाले व महाराजा रणजीत सिंह मार्केट के मध्य से गुजरती सड़क में से 1470 वर्गगज जगह 4500 रुपए प्रति वर्गगज के हिसाब से कांग्रेस काे अलाॅट करेगा। ट्रस्ट के चेयरमैन नरेश गाबा के अनुसार, सरकार से इसकी मंजूरी मिल गई है। वहीं, आम आदमी पार्टी और भाजपा इसका विरोध कर रही हैं। अकाली नेता अाैर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट किरनजीत सिंह सेखों ने भी ताल ठाेंक दी कि इस जमीन का मुकदमा पंजाब एवं हरियाणा हाईकाेर्ट के विचाराधीन है। वहीं नगर सुधार ट्रस्ट व संगरूर नगर कौंसिल का इस जगह से कोई सबंध नहीं है।

यह दूसरी बात है कि वहां कांग्रेस भवन बनने के कारण इस सड़क पर ट्रैफिक काफी प्रभावित होगा।

एडवोकेट सेखों का दावा - जमीन सेखाें गाेत्र के लाेगाें की, मामले पर हाईकाेर्ट का स्टे

नगर सुधार ट्रस्ट सुनाम रोड पर कांग्रेस भवन बनाने के लिए जमीन करेगा अलाॅट

सियासी पार्टी ने दखल दिया ताे कानूनी कार्रवाई कराएंगे : एडवोकेट सेखों


एडवोकेट किरनजीत सिंह सेखाें ने दावा किया कि कुल 74 कनाल 18 मरले जमीन के मालिक संगरूर गांव के प्राथमिक सदस्य हैं, जो सेखों गोत्र से संबंध रखते हैं। इस जगह को उन प्राथमिक निवासियों के रकबे में कटौती कर साझे तौर पर रखा गया था, जिसका अमल माल रिकार्ड में दर्ज है। रकबे की मिल्कियत के संबंध में सेखों गाेत्र के लोगों ने 12 मई 1993 को संगरूर अदालत में दावा दायर किया था, जिसका फैसला 30 अप्रैल 1996 को उनके हक में हुआ था। जिला एवं सत्र अदालत ने भी पहले फैसले को बरकरार रखा था। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने 7 नवंबर 1997 को संबंधित रकबे के सिलसिले में स्टे दिया था। बाद में, 30 मार्च 1998 को अपीलकर्ता अादि के वकीलों की बहस सुनने के बाद हाईकोर्ट ने स्टे अगले आदेश तक बरकरार रखने का आदेश दिया था। नगर सुधार ट्रस्ट और संगरूर नगर कौंसिल ने बंदी आदेश के खिलाफ अपील दायर की गई थीं, जिन्हें 1 नवंबर 2010 को काेर्ट ने खारिज कर दी थीं। उन्होंने कहा कि संबंधित जगह पर कुछ राजनीतिक पार्टियां और ग्रुप नाजायज कब्जा कर अपने सियासी दफ्तर बनाना चाहते हैं, जिनका इन जगह से कोई सबंध नहीं है। इस जगह काे लेकर केस पहले से ही अदालत के विचाराधीन है। यदि राजनीतिक पार्टी अथवा कोई अन्य पदाधिकारी इस मामले में किसी किस्म की नाजायज दखलअंदाजी करेगा, उसके खिलाफ हाईकोर्ट में कानून के अनुसार कार्रवाई कराई जाएगी।


इस जमीन का काेई केस नहीं : चेयरमैन नगर सुधार ट्रस्ट के चेयरमैन एवं कांग्रेसी नेता नरेश गाबा ने कहा कि यह जगह पंजाब सरकार के नियमों के अनुसार वाजिब रेट पर कांग्रेस काे अलाॅट की जा रही है। जगह अलाॅट होने से आम लोगों को किसी किस्म की मुश्किल नहीं आने दी जाएंगी। इस जमीन काे लेकर काेई काेर्ट केस नहीं है। जाे केस चल रहा है, वह अलाॅट की जाने वाली जमीन के सामने वाली काे लेकर है।

आप व भाजपा ने दी संघर्ष की चेतावनी

आम आदमी पार्टी के मालवा जोन-3 के महासचिव अवतार सिंह ईलवाल ने कहा कि यदि नगर सुधार ट्रस्ट ने कांग्रेस भवन के लिए जगह देने की तजवीज वापस न ली तो तीखा संघर्ष शुरू किया जाएगा। जिला भाजपा के प्रधान रणदीप दियोल ने कहा कि इस जगह पर किसी भी हालत में कांग्रेस भवन नहीं बनने दिया जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना