लोगों की सुविधाओं के लिए भाजपा-कांग्रेस अामने-सामने

Sangrur News - लोकहित सुविधाओं को लेकर शुुक्रवार को जिला प्रबंधकीय परिसर में पॉलिटिकल ड्रामा देखने को मिला है। शुक्रवार की...

Feb 15, 2020, 08:30 AM IST
Sangrur News - bjp congress face to face with people39s facilities

लोकहित सुविधाओं को लेकर शुुक्रवार को जिला प्रबंधकीय परिसर में पॉलिटिकल ड्रामा देखने को मिला है। शुक्रवार की सुबह भारतीय जनता पार्टी के सदस्य पंजाब सरकार की ओर से सरकारी अस्पतालों में एमरजेंसी सेवाओं पर लगाई गई फीस का विरोध करने के लिए पहुंचे जबकि कांग्रेस पार्टी के सदस्य केंद्र सरकार की ओर से बढ़ाए गए गैस के दामों का विरोध कर रहे थे। हैरत इस बात की है कि दोनों ही राजनीतिक पार्टियां लोकहित दामों को लेकर एक-दूसरे की पार्टियाें की सरकारों को खूब जमकर कोस रहीं थी परंतु खुद की सरकारों की ओर से बढ़ाए गए दामों पर कोई कुुछ नहीं बोल रहा था। ऐसे में दोनों सरकारों की नीतियों में आम लोग ही पिसते नजर आए। आमजन ने मांग उठाई है कि दोनों ही सरकारों को लोकहित सुविधाओं पर बढ़ाए गए दामों को वापस लेना चाहिए।

केंद्र सरकार सिलेंडर के बढ़ाए दामों को वापस ले नहीं ताे देशभर में हाेगा प्रदर्शन : कांग्रेस

प्रदेश सरकार का फैसला सेहत सुुविधाओं का निजीकरण करने का प्रयास : भाजपा


सरकारी अस्पतालों में एमरजेंसी सेवाओं पर फीस के फैसले पर भाजपा का कांग्रेस के खिलाफ व गैस के दाम बढ़ाने पर कांग्रेस का भाजपा के विरुद्ध प्रदर्शन

शुक्रवार की सुबह भारतीय जनता पार्टी के सदस्य जिला प्रधान रणदीप दियोल की अगुआई में जिला प्रबंधकीय परिसर में पहुंचे, जिन्होंने प्रशासन को मांग पत्र सौंपकर पंजाब सरकार की ओर से एमरजेंसी सेवाओं समेत शिशु के उपचार पर लगाई गई फीस को वापस लिए जाने की मांग उठाई। रणदीप दियोल का कहना है कि पंजाब सरकार ने मुफ्त में दी जानी सुविधाओं पर फीस लगाकर पंजाब की जनता से धोखा किया है। सरकार के फैसले के बाद एमरजेंसी में आने वाले मरीज को पहले पर्ची कटवाकर अपने हर उपचार के लिए फीस चुकानी होगी। सरकार ने यह फैसला लेकर सेहत सुुविधाओं का निजीकरण करने का प्रयास किया है। इससे गरीब वर्ग पर सबसे अधिक असर पड़ेगा। सरकार का यह फैसला निंदनीय है। उन्होंने मांग की कि सरकार तुरंत इस फैसले को वापिस ले।


केंद्र सरकार के फैसले से शहर में 80 हजार घरों पर पड़ेगा आर्थिक बोझ

संगरूर की बात की जाए तो शहर के लोग घरेलू गैस सिलंडर के करीब 732 रुपए दाम चुका रहे थे परंतु केन्द्र सरकार की ओर से जारी किए गए नए दाम के अनुसार अब लोगों को प्रति सिलंडर 877 रुपए चुकाने होंगे। शहर में करीब गैस के 80 हजार घरेलू कनेक्शन हैं। जोकि औसतन प्रति माह एक सिलेंडर इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में अब लोगों को प्रति सिलंडर 145 रुपए प्रति माह अधिक चुकाने होंगे।

पंजाब सरकार के फैसले से 4723 मरीजों पर बढ़ेगा अतिरिक्त बोझ

प्रदेश सरकार का फैसला अस्पतालों में लागू होने के बाद एमरजेंसी में आने वाले हर मरीज को पर्ची फीस 10 रुपए के अलावा, हर उपचार के लिए आम मरीज की तरह फीस चुकानी होगी। इसके अलावा 1 वर्ष से लेकर 5 वर्ष तक की बच्ची और 1 वर्ष तक के बच्चे के उपचार पर भी फीस देनी होगी। ऐसे में फैसला लागू होने पर अब एक माह में 4723 मरीजों को हर उपचार की फीस चुकानी होगी। इधर, शुक्रवार दोपहर बाद ही पंजाब सरकार ने अपने फैसले को वापस ले लिया।

केन्द्र सरकार की ओर से गैस के बढ़ाए गए दामों के विरोध में पंजाब प्रदेश महिला कांग्रेस की जिला प्रधान बलवीर कौर सैनी की अगुआई में महिला सदस्यों ने प्रशासन को मांग पत्र सौंप कर प्रधानमंत्री से बढ़ाए गए दाम वापस लिए जाने की मांग उठाई गई। इस मौके बलवीर कौर सैनी का कहना है कि केंद्र सरकार ने सिलेंडर के दामों में करीब 150 रुपए तक बढ़ाेतरी कर देश की जनता को झटका दिया है। सरकार ने ऐसे समय में दाम बढ़ाए है जब पूरा देश आर्थिक मंदहाली का सामना कर रहा है। आरोप लगाया गया कि सरकार ने अगस्त 2019 से 6 बार गैस के दामों में बढ़ाेतरी की है। इससे लोगों पर आर्थिक बोझ पड़ेगा। मांग की गई कि सरकार तुरंत बढ़ाए गए दामों को वापस ले अन्यथा देश भर में केन्द्र सरकार के विरूद्ध प्रदर्शन किया जाएगा।

Sangrur News - bjp congress face to face with people39s facilities
X
Sangrur News - bjp congress face to face with people39s facilities
Sangrur News - bjp congress face to face with people39s facilities

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना