लावारिस पशुओं को ट्राॅलियों में भर डीसी दफ्तर पहुंचे किसान, बोले-

Sangrur News - गांव चंगाल और हरेड़ी के किसान मंगलवार को लावारिस पशुओं को चार ट्राॅलियों में भरकर डीसी दफ्तर पहुंच गए। गुस्साए...

Dec 11, 2019, 08:36 AM IST
Sangrur News - farmers reach the dc office in trolleys the unclaimed animals said
गांव चंगाल और हरेड़ी के किसान मंगलवार को लावारिस पशुओं को चार ट्राॅलियों में भरकर डीसी दफ्तर पहुंच गए। गुस्साए किसानों ने प्रशासन और पंजाब सरकार के विरूद्ध नारेबाजी कर खूब भड़ास निकाली। मामले का पता चलते ही सिटी पुलिस स्टेशन के एसएचओ पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। किसान पशुओं को डीसी दफ्तर में छोड़ना चाहते थे, परंतु मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स ने किसानों को शांत कर प्रशासन से बैठक करवाकर मामले का हल करवाने का आश्वासन दिलाया। ऐसे में किसानों ने पशुओं से भरी ट्राॅलियों को डीसी दफ्तर के बाहर सड़क पर खड़ा कर दिया। इसके बाद किसानों की डीसी घनश्याम थोरी के निर्देशों पर तहसीलदार जीवन कुमार के साथ बैठक करवाई गई। तहसीलदार से किसान बोले, एसडीएम साहब, संभालो एन्हां नूंू, साडे खेतां विच वड़ के एह फसलां नूू उजाड़ रहे ने, किसे वेले वी सड़कां ते आ जांदे ने जिदे नाल हादसे हुंदे ने, ते बंदे मरदे नेे। तहसीलदार से बैठक के बाद किसानों के साथ लाए गए पशुओं को संगरूर गौशाला और बडरूखां रोड स्थित गौशाला में छोड़ दिया गया। किसानों को आश्वासन दिया गया कि प्रशासन पशुओं के स्थायी हल के लिए प्रयास कर रहा है। लोगों को इसमें सहयोग करना चाहिए।

प्रशासन का आश्वासन : पशुओं के स्थायी हल के लिए प्रयास किए जा रहे हैं, लोगों को इसमें सहयोग करना चाहिए

संगरूर डीसी दफ्तर के समक्ष ट्राॅलियों में पशुओं को लेकर पहुंचे किसान।

एसडीएम साहब, संभालो एन्हां नूं

साडे खेतां विच वड़ के एह फसलां नूू उजाड़

रहे ने, किसे वेले वी सड़कां ते आ जांदे ने

जिदे नाल हादसे हुंदे ने, ते बंदे मरदे ने

किसानों की चेतावनी : समस्या का हल नहीं निकला तो अधिकारियों के दफ्तरों और घरों के आगे पशु छोड़ेंगे

एक साल में 15 से अधिक लोगों की जा चुकी जान|बता दें कि लावारिस पशुओं के कारण पिछले एक वर्ष से जिले में 15 से अधिक लोगों की हादसों में मौत हो चुकी है। जिसके जिले भर में लोगों ने प्रदर्शन तक किए थे। डीसी की कोठी पर लोगों ने कैंडल मार्च कर कोठी के समक्ष दीये तक जलाए गए थे। ऐसे में डीसी की ओर से जिले की सभी नगर कौंसिल और पंचायतों को लावारिश पशुओं को पकड़ कर गौशालाओं और साझे स्थानों पर रखने के आदेश दिए थे। संगरूर में 2 माह तक मुहिम भी चली जिसमें 500 पशुओं को पकड़े जाने का दावा किया जा रहा है।

प्रशासन दे रहा सिर्फ आश्वासन : किसान

भाकियू के नेता धन्ना सिंह, जग्गा सिंह, बहादूर सिंह ने कहा कि क्षेत्र में लावारिश पशुओं की गिनती लगातार बढ़ रही है जिस पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। प्रशासन को बार-बार इनके स्थाई हल की मांग उठाई जा चुकी है बावजूद समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। मंगलवार किसानों को मजबूरी में पशु डीसी दफ्तर लाने पड़े हैं। चेतावनी दी गई कि यदि लावारिश पशुओं की समस्या का स्थाई हल न किया गया तो रोजाना पशुओं को पकड़ कर लाएंगे और अधिकारियों के दफ्तरों और घरों के आगे छोड़े जाएंगे।

X
Sangrur News - farmers reach the dc office in trolleys the unclaimed animals said
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना