टेट पास बेराेजगार बीएड यूनियन 15 काे संगरूर में करेगी शिक्षा मंत्री का घेराव

Sangrur News - टेट पास बेरोजगार बीएड अध्यापकों ने शिक्षा मंत्री विजयइंदर सिंगला के बहानों के रोष में 8 सितंबर से फिर संगरूर में...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:33 AM IST
Barnala News - tate pass unemployed bed union to encircle education minister in sangrur of 15
टेट पास बेरोजगार बीएड अध्यापकों ने शिक्षा मंत्री विजयइंदर सिंगला के बहानों के रोष में 8 सितंबर से फिर संगरूर में पक्का मोर्चा शुरू किया हुआ है। अब 15 सितंबर को संगरूर में मंत्री का घेराव किया जाएगा। इसके संबंध में बेराेजगारों काे लामबंद किया जा रहा है।

संगठन के प्रांतीय प्रधान सुखविंदर सिंह ढिल्लवां ने कहा कि 11 अगस्त को संगरूर में बेरोजगार अध्यापकों की राज्यस्तरीय रैली में सिंगला के एलान के मद्देनजर विभाग ने उनकी मांगाें का 7 सितंबर तक कोई हल निकालने और पैनल मीटिंग की बात की थी। परंतु शिक्षा मंत्री ने अपना वादा नहीं निभाया। इसी वादाखिलाफी से खफा बेराेजगार लगातार रोष प्रदर्शन करते अाैर सरकार और शिक्षा मंत्री के खिलाफ भड़ास निकालते अा रहे हैं। प्रधान ढिल्लवां ने कहा कि शिक्षा मंत्री ने 7 सितंबर तक वित्त विभाग से नए पदाें की परवानगी लेने, 55 प्रतिशत शर्त खत्म करने, अायु सीमा 42 साल करने के बाबत विचार कर यूनियन के साथ 7 सितंबर तक मीटिंग करने की घाेषणा की थी, जिसके चलते बेरोजगार अध्यापकों ने धरना उठा दिया था। लेकिन अभी तक नई भरती से संबंधित कोई प्रक्रिया शुरू नहीं की गई। एेसे में यूनियन ने 8 सितंबर से दोबारा शिक्षा मंत्री के शहर संगरूर में रोष मुजाहिरा कर पक्का धरना लगा दिया है।

उन्होंने कहा कि घर-घर नौकरी का वादा कर सत्ता में अाई कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के कारण नौजवान संघर्ष के रास्ते पर हैं। बेरोजगारी से परेशान मानसा जिले के गांव चक्क भाईका का जगसीर सिंह जाे यूजीसी-नेट, टेट, एमए-बीएड अादि था, खुदकुशी कर गया था।

अध्यापकाें काे मांगें पहल के अाधार पर हल करने का भराेसा | अध्यापक दल जहांगीर ने जिला शिक्षा अफसर (सेकेंडरी) के साथ बैठक की। इसमें अध्यापकों व स्कूल से संबंधित मामलों के बारे में विचार किया गया। इस साल सभी विद्यार्थियों को वर्दी नहीं मिलने, सितंबर टेस्ट का समय 3 घंटे करने, अध्यापकों की बकाया राशि अादि मसलाें पर चर्चा की गई। इस मौके पर अध्यापक दल के नेता सुखबिंदर सिंह भंडारी ने कहा कि अध्यापक अपना पूरा जीवन राष्ट्रनिर्माण में लगा देता है, इसलिए उसे हर तरह की सुविधा व अधिकार मिलने चाहिए। लेकिन अध्यापक को भी अपने हितों के लिए संघर्ष करना पड़ता है, जाे बेहद चिंता का विषय है। इस पर जिला शिक्षा अफसर ने उन्हें विश्वास दिलाया कि उनकी मांगों को पहल के आधार पर हल किया जाएगा। इस मौके पर सुखविंदर सिंह भंडारी, हरमेल सिंह, परमजीत सिंह, अमरजीत सिंह, रमेश कुमार, बलदेव सिंह, यशपाल सिंह, दर्शन सिंह, कुलदीप सिंह, महेंद्र पाल आदि हाजिर थे।

X
Barnala News - tate pass unemployed bed union to encircle education minister in sangrur of 15
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना