किसानों को मिट्‌टी का नमूना लेने की विधि बताई

Sangrur News - गुरु अंगद देव वेटनरी और एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी लुधियाना के कृषि विज्ञान केंद्र हंडियाया बरनाला की तरफ से एक पशु...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:30 AM IST
Barnala News - telling farmers how to take samples of soil
गुरु अंगद देव वेटनरी और एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी लुधियाना के कृषि विज्ञान केंद्र हंडियाया बरनाला की तरफ से एक पशु जांच और इलाज कैंप गांव कट्टू में केंद्र के एसोसिएट डायरेक्टर डॉ. प्रह्लाद सिंह तंवर की अगुआई में लगाया गया। कैंप में डॉ. तंवर ने केंद्र की तरफ से किसानों के लिए चलाई जा रही गतिविधियों और प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों से जानकार करवाया। उन्होंने पानी बचाने की तकनीकों के बारे में जानकारी दी और किसानों से अपील की कि वह पानी की सही तरीके से प्रयोग करें। इस कैंप में गुरु अंगद देव वेटनरी और एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी लुधियाना से आए अलग-अलग माहिरों द्वारा पशुओं की जांच और इलाज किया गया। कैंप में 250 पशुओं की जांच और इलाज कृषि विज्ञान केंद्र की तरफ से मुफ्त किया गया और दवाइयां दी गई। डॉ. प्रतीक जिंदल असिस्टेंट प्रोफेसर (पशु पालन) ने पशु पालकों के लिए चारे की महत्ता के बारे में प्रशिक्षण दी। डॉ. सुरिन्दर सिंह, असिस्टेंट प्रोफेसर (फसल माहिर) ने चारों वाली फसलों और आचार बनाने की जानकारी दी तथा मिट्टी का नमूना लेने की विधि भी बताई। गिल कोठे समाज भलाई संस्था गांव कट्टू के प्रगतिशील किसान गुलजार सिंह गिल और ग्राम पंचायत कट्टू के सरपंच मनिन्दर सिंह सराय ने इस कैंप में योगदान दिया। इस कैंप में अजीत सिंह, गुरजंट सिंह, हरदीप सिंह, बलतेज सिंह, प्रीतम सिंह, हरनेक सिंह, भान सिंह, बलवीर सिंह मास्टर, गुरप्रीत सिंह, बच्चा, बूटा सिंह, भान सिंह, भगतू सिंह, सेवक सिंह, निर्मल सिंह, गुरमेल सिंह सेखें, बिन्दर सिंह, हरदेव सिंह , मास्टर गुरदयाल सिंह, सुखजीत सिंह, भुल्लर सिंह किसान आदि शामिल थे।

किसानों को जानकारी देते हुए कृषि विज्ञान केन्द्र के सदस्य।

किसानों को दी मोबाइल एप की जानकारी

बरनाला। कृषि विज्ञान केंद्र बरनाला के सेंटर में आई टीम में सहायक कमिश्नर एके उपाध्याय की अध्यक्षता में टीम सदस्यों ने कस्टम हायरिंग सेंटरों और फार्म मशीनरी संबंधित मोबाइल एप के बारे में किसानों को जानकारी दी। टीम में शामिल सुरजीत कुमार सीनियर सॉफ्टवेयर डिवेलपर, एनआईसी नई दिल्ली ने कस्टम हायरिंग सेंटरों के सदस्यों को मोबाइल एप और डाटा अपलोड करने संबंधित विशेष प्रशिक्षण दिया। उन्होंने डाटा अपलोड करने के समय आ रही मुश्किलों का हल बताया। इस एप से किसानों को खेती यंत्र किराये पर लेने संबंधित आसानी होगी।

X
Barnala News - telling farmers how to take samples of soil
COMMENT