भाकियू की अगुआई में खेड़ी कलां गांव के किसानों ने जलाई पराली

Sangrur News - ब्लाक शेरपुर के गांव खेडी कलां में भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां की अगुवाई में किसानों द्वारा धान की पराली को...

Nov 10, 2019, 08:42 AM IST
ब्लाक शेरपुर के गांव खेडी कलां में भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां की अगुवाई में किसानों द्वारा धान की पराली को आग लगाई गई। यूनियन ने ऐलान किया है कि जब तक सरकार पराली का स्थाई हल नहीं देगी तब यह सिलसिला जारी रहेगा। किसानों द्वारा सरकार के विरूद्ध जमकर नारेबाजी भी की गई। इस मौके यूनियन नेता करनैल सिंह खेडी, जसपाल सिंह व हरनेक सिंह ने पराली जलाने से पैदा हुए धुएं का नुकसान उन्हें भी होता है। परंतु पराली को जलाना उनकी मजबूरी है, क्योंकि वह महंगी मशीनें खरीद पराली का हल नहीं कर सकते। क्योंकि किसान पहले ही कर्ज के नीचे दबे हुए है। जिस कारण वह पराली को आग लगाने की बजाए कुछ भी नहीं कर सकते। उन्होंने सरकार से मांग की कि किसानों को पराली न जलाने के बदले 6 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा दिया जाए, नहीं तो पराली को जलाएंगे। इस मौके पर निर्मल सिंह, गुरसेवक सिंह, हरप्रीत सिंह, स्वर्णजीत सिंह आदि उपस्थित थे। मामले सबंधी डीसी घनश्याम थोरी का कहना है कि प्रशासन शुरू से ही किसानों को पराली न जलाने की अपील करता रहा है। नियमों की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है। यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

शेरपुर के गांव खेडी कलां में सरकार के खिलाफ रोष प्रगट करते किसान।

पराली जलाने के मामले में अबतक 81 किसानों पर केस दर्ज

जिला संगरूर में पराली जलाने से रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा अपनाए गए सख्त रूख के तहत अब कर 81 किसानों पर मामला दर्ज किया जा चुका है। जबकि 55 को गिरफ्तार किया जा चुका है। जानकारी देते हुए डीसी घनश्याम थोरी ने बताया कि शनिवार को 27 मामले दर्ज कर 22 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने अधिकारियों को हिदायत दी कि पराली जलाने वालों को लगाए गए जुर्मानों की वसूली के लिए कोर्ट में चालान पेश किए जाएं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट, एनजीटी और पंजाब सरकार के दिशा निर्देशों की पालना को यकीना बनाया जाना जरूरी है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना