सुनम

  • Home
  • Punjab News
  • Sunam News
  • जहां नारी की पूजा होती है वहां देवता निवास करते हैं : भारती
--Advertisement--

जहां नारी की पूजा होती है वहां देवता निवास करते हैं : भारती

दिव्य ज्योति जागृति संस्थान द्वारा आश्रम में प्रवचन करते हुए श्री गुरु आशुतोष जी महाराज की शिष्या साध्वी...

Danik Bhaskar

Jan 16, 2018, 03:00 AM IST
दिव्य ज्योति जागृति संस्थान द्वारा आश्रम में प्रवचन करते हुए श्री गुरु आशुतोष जी महाराज की शिष्या साध्वी ईश्वरप्रीता भारती ने कहा कि आज समाज में लड़कों की लोहड़ी मनाई जाती है लेकिन लड़की के जन्म पर लोहड़ी नहीं मनाई जाती।

कारण यह है हमारा समाज लड़के व लड़की में सदैव अंतर समझता है। लड़की का जन्म लेना अभिशाप व बोझ समझा जाता है। मां बाप उसे घृणा की दृष्टि से देखते हैं। यह गिरावट आज यहां तक आ चुकी है या तो लड़की को जन्म लेते ही मार दिया जाता है या गर्भ में ही समाप्त कर दिया जाता है।

कन्या भ्रूणहत्या एक महापाप है। हमारे शास्त्रों ने नारी को सदैव पूजनीय बताया है। जहां नारी की पूजा होती है वहां देवता निवास करते हैं। नारी ही विश्व की वह प्रथम नागरिक है जो मनुष्य में सर्वप्रथम संस्कारों को रोपित करती है। छत्रपति शिवाजी, स्वामी विवेकानंद तथा राजा गोपीचंद जैसे श्रेष्ठ महापुरुषों के उत्कृष्ट जीवन का आधार उनकी माताएं ही रही। भारत को आध्यात्मिक विरासत के बल पर फि र से जगत गुरु कहलाने में सबसे अधिक उर्जा यदि कोई प्रदान कर सकती है तो वह भारत की नारी है इसलिए आज हमें लड़की को भी उतना ही सम्मान देना चाहिए जितना लड़के को देते हैं। इस मौके पर सुनीता शर्मा प्रधान ब्राह्मण सभा पंजाब, दमन थिंद बाजवा, रागिनी ठाकुर, पुष्पा कुमारी, शीला देवी आदि उपस्थित थे।

साध्वी ईश्वरप्रीता भारती प्रवचन करती।

Click to listen..