--Advertisement--

हमारी जीवात्मा परमात्मा का ही अंश : रमन

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से स्थानीय आश्रम में धार्मिक कार्यक्रम करवाया गया। इस मौके पर आशुतोष महाराज...

Danik Bhaskar | May 07, 2018, 03:10 AM IST
दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से स्थानीय आश्रम में धार्मिक कार्यक्रम करवाया गया। इस मौके पर आशुतोष महाराज की शिष्या साध्वी सुश्री रमन भारती ने कहा कि परमात्मा को कृपानिधान, दयासिन्धु, पतित पावन, अंतर्यामी आदि अनेक नामों से जाना जाता है। वह गुणों का सागर है, सर्वगुण संपन्न है। वह हमारी जीवात्मा परमात्मा का ही अंश है। इसलिए सूक्ष्म रूप में हमारे भीतर भी ईश्वरीय-गुण विद्यमान है। हमारे जीवन का लक्ष्य भी यही है कि हम अपनी इस शक्ति को पहचाने और इसे जाग्रृत कर ईश्वर को प्राप्त कर लें, परन्तु आज अगर हम देखें तो श्रेष्ठ बुद्धि को पाकर हमारी कामना कुछ ओर ही बन गई है।(टिंका)

रमन भारती।

सुनाम में धार्मिक समागत उपस्थित श्रद्धालू।