• Home
  • Punjab News
  • Sunam News
  • मीरा ने अपना संपूर्ण जीवन भगवान श्री कृष्ण की भक्ति में व्यतीत किया : सुश्री रूपेश्वरी
--Advertisement--

मीरा ने अपना संपूर्ण जीवन भगवान श्री कृष्ण की भक्ति में व्यतीत किया : सुश्री रूपेश्वरी

शिव निकेतन धर्मशाला सुनाम में दिव्य ज्योति जागृति संस्थान की और से पांच दिवसीय श्रीकृष्ण कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन...

Danik Bhaskar | Apr 12, 2018, 03:35 AM IST
शिव निकेतन धर्मशाला सुनाम में दिव्य ज्योति जागृति संस्थान की और से पांच दिवसीय श्रीकृष्ण कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया गया है। कथा के प्रथम दिवस की शुरूआत गौरा लाल गोयल, अजय गोयल, गगन गोयल, राज कुमार, मोहित गर्ग के परिवार की ओर से पूजन किया गया।

श्रीकृष्ण कथा के प्रथम दिवस में परम पूजनीय सर्व श्री आशुतोष महाराज की शिष्या साध्वी सुश्री रूपेश्वरी भारती ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण एक ऐसा व्यक्तित्व हैं जिसे किसी एक परिभाषा में चित्रित ही नहीं किया जा सकता। श्रीकृष्ण जी ने संसार में गोप-गोपीकाओं के माध्यम से भक्ति की सरस धारा प्रवाहित की है। उन्होंने कहा कि मीरा बाई जी एक क्रांतिकारी समाज सेविका, एक उच्च कोटि की कवयित्राी और सभी मे सर्वोपरि एक महान भगतात्मा थी। मीरा ने अपना संपूर्ण जीवन भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति में व्यतीत किया। पायो जी मैने राम र| धन पायो गाकर मीरा बाई ने सारे संसार को बता दिया कि उनके गुरु रविदास जी ने उन्हें दिव्य र| दे दिया। जिस को प्राप्त कर वह मगन हो गई। मीरा ने कहा कि मेरे गुरुदेव ने मुझे ऐसा ज्ञान दिया, जिससे मुझे संसार की सत्यता ज्ञात हो गई।

मुझे कृष्ण का शाश्वत प्रेम प्राप्त हो गया। साध्वी ने कथा प्रसंग के माध्यम से बताया कि मनुष्य के भीतर जो विकार हैं उसका कारण मन है। जब तक इंसान का मन विकसित नहीं हुआ तब तक वह किसी समाधान का अंग नहीं बन सकता। यदि समाज में परिवर्तन लाना है तो सबसे पहले व्यक्ति की चेतना और अंतर मन में परिवर्तन लाना होगा। अध्यात्म द्वारा उसे जागृत करना होगा। कथा में ज्योति प्रजवलित करने के लिए विशेष रूप से सुरिंद्र बाजवा, सुनीता शर्मा, प्रेम गुगनानी, गाोपाल शर्मा, तरसेम चंद, नरेश भारद्वाज, प्रिंसिपल राजेन्द्र गोयल आदि उपस्थित थे।

सुनाम की शिव निकेतन धर्मशाला में श्री कृष्ण कथा ज्ञान यज्ञ में शामिल श्रद्धालु ( दाएं) प्रवचन करतीं साध्वी सुश्री रूपेश्वरी भारती।