• Hindi News
  • Punjab
  • Sunam
  • शिअद प्रधान के विरुद्ध अकाली-भाजपा पार्षदों से मिल कांग्रेस ने डाला अविश्वास प्रस्ताव, अपने ही तीन पार्षद नहीं पहुंचे, फेल
--Advertisement--

शिअद प्रधान के विरुद्ध अकाली-भाजपा पार्षदों से मिल कांग्रेस ने डाला अविश्वास प्रस्ताव, अपने ही तीन पार्षद नहीं पहुंचे, फेल

कौंसिल कमेटी के अकाली प्रधान बगीरथ राए गीरा शुक्रवार को अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब रहे। प्रधान के विरुद्ध...

Dainik Bhaskar

Jun 23, 2018, 03:45 AM IST
शिअद प्रधान के विरुद्ध अकाली-भाजपा पार्षदों से मिल कांग्रेस ने डाला अविश्वास प्रस्ताव, अपने ही तीन पार्षद नहीं पहुंचे, फेल
कौंसिल कमेटी के अकाली प्रधान बगीरथ राए गीरा शुक्रवार को अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब रहे। प्रधान के विरुद्ध अकाली- भाजपा पार्षदों की मदद से लाया गया अविश्वास प्रस्ताव कांग्रेस की अपनी ही गुटबाजी के कारण फेल हो गया। कांग्रेस समर्थक तीन पार्षदों ने बैठक से बाहर रहकर गीरा की कुर्सी बचाने में अहम भूमिका निभाई। कांग्रेस पार्टी द्वारा गैरहाजिर तीनों पार्षदों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है वहीं अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले अकाली पार्षदों पर भी अकाली दल कार्रवाई करने का मन बना चुका है। शुक्रवार को नगर कौंसिल कार्यालय में प्रधान के विरुद्ध पेश अविश्वास प्रस्ताव को साबित करने के लिए बैठक रखी गई थी, जिसमें कांग्रेस के एक पार्षद मनप्रीत बांसल समेत आजाद और अकाली दल से संबंधित 13 पार्षद 9.56 मिनट पर पहुंचे। प्रधान बघीरथ राए गीरा भी बैठक में मौजूद थे। शहर के कुल 23 पार्षद और विधायक को मिलाकर कमेटी के कुल 24 सदस्य हैं। प्रधान को कुर्सी से उतारने को 2/3 समर्थन से 16 पार्षदों की उपस्थिति जरूरी थी। परंतु कांग्रेस पार्टी से संबंधित तीन पार्षद कोमल कांसल, अमित शर्मा और विजय पाल गीतू बैठक से दूर रहे। बहुमत पूरा न होने पर 10.12 मिनट पर सभी पार्षद बैठक से बाहर आ गए। प्रधान गीरा अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब रहे। 6 माह से कांग्रेस पार्षदों द्वारा अकाली प्रधान को कुर्सी से उतारने के लिए बनाई रणनीति कांग्रेस की गुटबाजी के चलते 16 मिनट में ढेर हो गई। (टिंका/गक्खड़)

सुनाम में बैठक में शामिल होने वाले पार्षद (दाएं) कुर्सी बचने की खुशी में प्रधान बगीरथ राए घीरा को सम्मानित करते जिला प्रधान प्रितपाल सिंह हांडा।

ये मौजूद रहे|वार्ड 2 से हाकम सिंह, 4 से कांता पप्पा, 5 से विक्रम गर्ग, 6 से मनप्रीत सिंह, 7 से मनजीत कौर, 10 से सर्बजीत कौर, 11 से प्रेम चंद, 14 से मनप्रीत बांसल, 15 से सुखविन्द्र ढिल्लों, 17 से यादविंदर, 18 से मनजीत सिंह 19 से नसीब कौर, 22 से चरणजीत कौर बैठक में पहुंचे थे।

यह रहे गैरहाजिर|वार्ड 1 से अमृत पाल कौर, 3 से प्रभशरण सिंह बब्बू, 8 से विजय पाल सिंह गीतू, 9 से अमित शर्मा, 13 से कोमल कांसल, 16 से मोनिका गोयल, 20 से रिशीपाल, 21 से निशान सिंह, 23 से दर्शन सिंह और आप के विधायक अमन अरोड़ा े गैरहाजिर रहे हैं।


बैठक में पार्षद कोमल कांसल, अमित शर्मा और विजय पाल गीतू के शामिल नहीं होने पर कांग्रेस पार्टी की ओर से गंभीरता से लिया जा रहा है। पार्टी के जिला प्रधान राजिन्द्र सिंह राजा का कहना है कि तीनों पार्षदों को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है।


शिअद के जिला प्रधान शहरी प्रितपाल हांडा का कहना है कि अकाली दल की सरकार में अकाली पार्षदों ने सत्ता का आनंद माना है। कांग्रेस के राज में अकाली प्रधान के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले अकाली दल के पार्षदों के विरुद्ध पार्टी नियमों के अनुसार कार्रवाई करेगी।


प्रधान बगीरथ राए गीरा के विरुद्ध 28 मई को नाराज अकाली पार्षदों की मदद से अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया था, नियमों के अनुसार प्रधान को बैठक रखने के लिए 14 दिन का समय होता है। और बैठक अगले 14 दिनों के समय में रखी जानी जरूरी होती है। जिसके चलते प्रधान के पास अपनी कुर्सी बचाने के लिए नाराज पार्षदों को मनाने के लिए 28 दिन का समय था।

X
शिअद प्रधान के विरुद्ध अकाली-भाजपा पार्षदों से मिल कांग्रेस ने डाला अविश्वास प्रस्ताव, अपने ही तीन पार्षद नहीं पहुंचे, फेल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..